General News

कुरान बांटने के आदेश के व्यूह में फंसी ऋचा अब पुलिस के झारखंड HC पहुंची

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

सोशल मीडिया पर कथित अश्लील टिप्पणियों के चलते निचली अदालत से कुरान बांटने के आदेश के व्यूह में फंसने से चर्चा में आयी रिचा भारती ने उनके खिलाफ साजिश रचने के लिए अनेक पुलिस अधिकारियों एवं 17 अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करने के निर्देश देने की झारखंड उच्च न्यायालय से गुहार लगायी है।

ऋचा ने याचिका दायर कर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, ग्रामीण पुलिस अधीक्षक और पिठोरिया थाना प्रभारी पर मुकदमा दर्ज करने के लिए निर्देश देने का आग्रह किया है। उनके खिलाफ फेसबुक पर अश्लील पोस्ट करने वाले 17 लोगों पर भी प्राथमिकी दर्ज कराने का आग्रह उच्च न्यायालय से किया है।

याचिका में कहा गया है कि उनके खिलाफ फेसबुक पर कई लोगों ने अश्लील टिप्पणी की है। इसकी शिकायत वह पिठोरिया थाना प्रभारी, इलाके के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक और ग्रामीण पुलिस अधीक्षक से की है, लेकिन महीनों बीत जाने के बाद भी उनकी शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज नहीं की जा रही है। जिन लोगों ने अश्लील टिप्पणी की है उनके खिलाफ भी पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है।

यह भी पढ़ें - जज ने ऋचा भारती को दिया कुरान बांटने का आदेश, इस्लामिक विद्वानों ने कहा: 'सजा गंगा-जमुना तहजीब की बेहतरीन मिसाल'

उन्होंने याचिका में कहा है कि उच्च अधिकारियों से शिकायत करने के बाद भी कार्रवाई नहीं की गयी है।

याचिका में ऋचा ने कहा है कि उसने फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट नहीं किया था। लेकिन पुलिस ने बिना जांच के उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर उसे अदालत में पेश किया था। इस कारण लापरवाह पुलिस अधिकारियों पर कार्रवाई होनी चाहिए।

ज्ञातव्य है कि निचली अदालत ने जमानत के लिए उन पर कुरान बांटने की शर्त लगायी थी। इसी साल जुलाई में ऋचा पर सोशल साइट पर आपत्तिजनक बातें लिखने का आरोप लगा था। पुलिस ने इस मामले में ऋचा को गिरफ्तार किया था।

यह भी पढ़ें - पांच कुरान बांटने की शर्त पर जमानत मिलने पर ऋचा भारती ने कहा- फैसले के खिलाफ हाई कोर्ट जाऊंगी: VIDEO

निचली अदालत ने ऋचा को जमानत देने के लिए कुरान बांटने की शर्त लगायी थी। इसका कई संगठनों ने विरोध किया था। बाद में अदालत ने कुरान बांटने की शर्त वापस ले ली थी।

DO NOT MISS