General News

उन्नाव रेप केस: आरोपी MLA सेंगर के करीबी रिंकू शुक्ला का कूबलनामा, 'हां, मैंने पुलिस वाले को दिए थे पैसे'

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

उन्नाव रेप केस को लेकर उत्तर प्रदेश समेत देश की सियासत गर्म हैं। विपक्षी पार्टीयां योगी सरकार पर आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के साथ 'नरमी बरतने' का आरोप लगा रही हैं। वहीं बीजेपी ऐसे सभी आरोपों को खारिज कर रही है। इसी बीच रिपब्लिक भारत को एक्सक्लूसिव वीडियो मिली है जिसमें एक शख्स सीतापुर जेल के बाहर पुलिस कर्मी को कुछ पैसे थमाते हुए नजर आ रहा है। बता दें, यह वहीं जेल हैं जहां आरोपी विधायक सेंगर पिछले एक साल से बंद है और वीडियों में पुलिस वाले को पैसे देने वाले शख्स की पहचान रिंकू शुक्ला की रूप में हुई हैं, जो आरोपी विधायक के कथित तौर पर करीबी बताया जा रहा हैं।

ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि आरोपी विधायक का करीबी रिंकू शुक्ला ने पुलिस वाले को पैसे क्यों दिए? जब इसका जवाब देने के लिए रिपब्लिक भारत ने रिंकू से संपर्क साधा तो वो पुलिस वाले को रिश्वत देने जैसे आरोप को नकारते हुए नजर आए। रिंकू ने कहा कि मैंने कोई पुलिस वाले को रिश्वत नहीं दी, हालांकि विधायक के कथित करीबी इस बात को स्वीकारा कि उन्होंने पुलिस वाले को पैसे दिए लेकिन इसके पीछे उन्होंने तर्क दिया कि पुलिस वाला भीषण गर्मी के बीच खड़ा था इसलिए मैंने उसको सिर्फ 10-20 रूपये दिए थे। 

यह भी पढ़ें - उन्नाव रेप केस में सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला: सभी पांचों केस दिल्ली ट्रांसफर, निचली अदालत में रोजाना सुनवाई कर 45 दिन में ट्राइल पूरा करने का आदेश

रिंकू ने आगे बीजेपी के सदस्य होने से इनकार करते हुए कहा कि मैं पार्टी का सदस्य नहीं हूं, लेकिन मैं पार्टी से जुड़ा हुआ हूं। मैं जिला पंचायत सदस्य हूं और मैं स्वतंत्र नेता हूं।'

रिंकू ने आगे आरोपी विधायक से मिलने की बात भी कबूल करते हुए कहा कि मैं उनसे लगभग 10-15 दिन पहले मिला था। मैं उनसे कुछ अन्य लोगों के साथ मिला। क्योंकि उन्नाव के अन्य आम लोगों की तरह में भी विधायक से मिलने गया था।

बता दें, उन्नाव बलात्कार मामले में भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर मुख्य आरोपी हैं जिन्हें पिछले साल 12 अप्रैल को गिरफ्तार किया गया था। गौरतलब है कि रायबरेली में एक तेज रफ्तार ट्रक ने रविवार को बलात्कार पीड़िता की कार को टक्कर मार दी थी। हादसे में पीड़िता के परिवार के दो सदस्यों की मौत हो गई। पीड़िता और उसका वकील गंभीर रूप से घायल हैं, जिनका लखनऊ के एक अस्पताल में इलाज जारी है। 

 

DO NOT MISS