General News

VIDEO : कांग्रेसी नेता ने दबंगई से लिया 'बदला'.. लोगों से रगड़वाई नाक

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

राजनीति ऐसी बला है जो हर किसी के पल्ले नहीं पड़ने वाली है. लेकिन राजनेता हमेशा खुद को जनता का सेवक बताता है. क्या आपने सोचा है अगर वही नेता गुंडई करने लगे तो भला जनता का क्या होगा? दरअसल चुनावी माहौल के बीच राजनीतिक हलचल परवान पर है. इसी बीच राजस्थान में कांग्रेस के नेताजी ने अपने अपमान का बदला लोगों को जमीन पर नाक रगड़वा कर और अपना पैर छूआकर लिया.

हम बात कर रहे हैं डूंगरपुर जिले के भमेई गोसावा क्षेत्र के पूर्व जिला प्रभारी और कांग्रेस नेता भगवती लाल की. जिन्हें गुस्साए लोगों ने जमीन पर नाक रगड़ने के लिए मजबूर कर दिया था.

नेताजी ने अपने इस अपमान का बदला बिल्कुल वैसे ही लिया जैसे कि उन्होंने सबके सामने नाक रगड़ा था. कांग्रेस नेता भगवतीलाल ने उन सभी ग्रामीणों को बुलाया जिन्होंने उनकी नाक जमीन पर रगड़वाई थी. सामने आए वीडियो में कांग्रेस के नेताजी की दबंगई साफ देखी जा सकती है. अपनी हेकड़ी और धौंस दिखाकर नेताजी ने उन सभी को उनके पैर पर गिरकर माफी मांगवाया और नाक भी रगड़वा दिया.

आपको पूरा माजरा तफ्सील से समझाते हैं... दरअसल कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट की चुनावी सभा में शामिल होने जा रहे पूर्व जिला प्रमुख भगवती लाल रोत की गाड़ी से झोसावा के पास कुछ ग्रामीणों के ऊपर कीचड़ उछल गया था. आक्रोशित ग्रामीणों ने चार किमी दूर झोसावा तक पीछा कर गाड़ी को रुकवाया. विवाद बढ़ने लगा और जिसके बाद लोग भड़क गए थे और नेताजी को बीच सड़क पर सबके सामने नाक रगड़ने पर मजबूर कर दिया था. 

सोशल मीडिया पर नेताजी वाला वीडियो तेजी से वायरल हो रहा था. इस मसले पर पूर्व जिला प्रमुख भगवतीलाल ने सफाई देते हुए कहा था कि मैंने घटना के तत्काल बाद ही उन लोगों से माफी मांग ली थी लेकिन वो लोग मारने पर उतारू हो गए थे. और बार बार इस बात की जिद कर रहे थे कि मैं उनके सामने अपनी नाक रगडूं. मैं बात को बढ़ाना नहीं चाहता था. इसीलिए मैंने नाक रगड़ कर माफी मांग ली.

कहते हैं राजनीति की शाख बचानी है तो नेताजी को कुछ भी करना पड़ सकता है. नेताजी के सामने जब कोई चारा नहीं था तब तो उन्होंने बीच सड़क पर नाक रगड़ ली थी लेकिन ये महज एक बागनी भर थी. उसके बाद जो देखने को मिला वो पूरे राजनीतिक महकमे पर सवाल उठाता है. बता दें, राजस्थान में विधानसभा चुनाव आगामी 7 दिसंबर को होना है. ऐसे में कांग्रेस नेता की ये करतूत कांग्रेस के लिए मुश्किल पैदा कर सकती है.
 

DO NOT MISS