General News

गहलोत के शपथ ग्रहण समारोह में राहुल, मनमोहन सहित कई दिग्गज होंगे शामिल

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

जयपुर के अल्बर्ट हॉल में सोमवार को कांग्रेस विधायक दल के नेता अशोक गहलोत और प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट की ताजपोशी समारोह में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, एच डी देवेगौड़ा सहित कई दिग्गज नेता शामिल होंगे.

कांग्रेस विधायक दल के नेता अशोक गहलोत ने अल्बर्ट हाल में आयोजित होने वाले भव्य शपथग्रहण समारोह का जायजा लेने के बाद संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि समारोह में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, एच डी देवेगौड़ा, मल्लिकार्जुन खड़गे, शरद यादव, फारूख अब्दुल्ला, चंद्रबाबू नायडू, समाजवादी पार्टी, तृणमूल कांग्रेस, सीपीआई,सीपीएम, डीएमके, आम आदमी पार्टी, सहित विपक्ष के शीर्ष नेता शामिल होंगे.

मुख्य सचिव डी बी गुप्ता ने बताया कि सोमवार हो होने वाले शपथग्रहण समारोह के लिये अधिकारियों को जिम्मेवारी दे दी गई है जिसके अनुसार सभी अधिकारी अपने अपने काम में जुट गये हैं.

शपथ ग्रहण समारोह स्थल पर सुरक्षा के कडे़ बंदोबस्त किये गये हैं. वहीं पुलिस के आला अधिकारियों ने समारोह स्थल पर सुरक्षा, समुचित यातायात व्यवस्था का जायजा लिया.

कांग्रेस के राज्य प्रभारी अविनाश पांडे ने बताया कि शपथ ग्रहण समारोह में समाजवादी पार्टी, तृणमूल कांग्रेस, भाकपा, माकपा, द्रमुक, आम आदमी पार्टी सहित विपक्ष के शीर्ष नेताओं को आमंत्रित किया गया है.

उल्लेखनीय है कि शपथ ग्रहण समारोह आमतौर पर परंपरा के अनुसार, राजभवन में आयोजित किया जाता रहा है, लेकिन 2013 में वसुधरा राजे ने जनपथ में शपथ ग्रहण आयोजन किया था. गहलोत और पायलट के शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन अल्बर्ट हाल में किया जा रहा है. 

वहीं कांग्रेस विधायक दल के नेता अशोक गहलोत ने रविवार को राज्य की आर्थिक स्थिति के लिये वसुंधरा राजे को जिम्मेदार बताते हुए कहा कि राजे के नेतृत्व में भाजपा सरकार को भारी बहुमत मिला था, जनता की आशाएं और अपेक्षाएं थीं. अगर वह चाहतीं तो कुछ काम करके दिखा सकती थीं.

जयपुर के अल्बर्ट हॉल में मुख्यमंत्री पद के लिये आयोजित शपथग्रहण समारोह का जायजा लेने के बाद संवाददाताओं से बातचीत में उन्होंने कहा ‘‘ चुनाव के दौरान मेरी उनसे शिकायत रही है कि आपने लापरवाही क्यों की और पांच साल लापरवाही में निकाल दिये.’’ 

गहलोत ने कहा ' राज्य की वित्तीय स्थिति क्या है, पूरा प्रदेश जानता है. और वसुंधरा राजे को 163 सीटों का बहुत भारी बहुमत मिला था. जनता की आशाएं अपेक्षाएं थीं. अगर वह चाहतीं तो कुछ काम करके दिखा सकती थीं. लेकिन पूरे चुनाव के दौरान मेरी सबसे बड़ी शिकायत यही रही है कि आपने लापरवाही क्यों की. लापरवाही से पांच साल निकाल दिए. आपके झगडे़ थे आप ही के आला नेताओं से थे जिसकी जिम्मेवारी हमारी नहीं है. वह झगडे़ आपको मिटाने चाहिए थे .’’ 

उन्होंने कहा ‘‘आपका :वसुंधरा राजे का: मन लगा नहीं, आप हमेशा असुरक्षित रहे. पता नहीं, क्या स्थिति बनी कि वह काम नहीं कर पाई. पहले का पांच साल का उन्हें अनुभव था और वह काम कर सकती थीं, लेकिन ..... .' 

DO NOT MISS