pc-pti
pc-pti

General News

फैक्टरियां बंद पर वर्करों को मिलेगी पूरी तनख्वाह, पंजाब के उद्योगपतियों ने किया बंद का समर्थन

Written By amit bhardwaj | Mumbai | Published:

पंजाब, फतेहगढ़साहिब:- पूरे विश्व के लिए चुनौती बने कोरोना वायरस ने देश में जिस तरह से पैर पसारे हैं उसे देखते हुए 31 मार्च तक सभी जगह कामकाज बंद कर दिया गया है और साथ ही राज्य में पूर्ण कर्फ़्यू लगा दिया गया है। इसके चलते पंजाब के जिला फतेहगढ़ साहिब में भी बंद का पूरा असर देखने को मिल रहा है। इसी जिले में स्थिति एशिया की सबसे बड़ी लोहा इंडस्ट्री मंडी गोबिंदगढ़ को कोरोना के संक्रमण से बचने के चलते पूरी तरह से लॉकडाउन कर दिया गई है और यहां शहर के सभी बाजार व गालियां सुनी दिखाई दे रही है और फैक्ट्रियों का भी चक्का थम चुका है। इस बंद का सभी उद्योगिक संस्थायों व ऐशोसियसन ने अपनी स्वेच्छा से बिना आपत्ति के समर्थन किया है। 

एशिया की सबसे बड़ी लोहा मंडी के व्यापारी महिंदर गुप्ता का कहना है कि देश में कोरोना वायरस के कारण महामारी न फैले इस लिए हम इस बंद को आ अपना पूरा समर्थन देते हैं और जितने भी दिन यह बंद रहेगा वह फेक्ट्री में काम करने वाले कामगारों को पूरी सैलरी भी देते रहेंगे। महिंदर गुप्ता ने कहा की जहां कोरोना वायरस के चलते पूरे देश की रफ्तार रुक गयी वहीं हमने भी लोगों की और अपनी सुरक्षा हेतु एशिया की सबसे बड़ी लोहा मंडी की नगरी में कामकाज को बंद करने के सरकार के फैसले का पूर्ण समर्थन किया है।

वही उद्योगपति संजय बांसल व हेमंत बत्ता का कहना था कि कोरोना एक घातक वायरस है जिससे बचने के लिए हमे ही सावधानी बरतने की जरूरत है इसी लिए हम इस बंद को आपना पूर्ण समर्थन किया है और सरकार के साथ है। संजय और हेमंत का कहना है कि काम तो हम आगे भी कर सकते है मगर सबसे पहले जिंदगी जरूरी है इस बंद से इंडस्ट्री व सरकार को काफी नुकसान होगा मगर इस नुकसान से ज्यादा कीमती है इंसान की जिंदगी। अगर जिंदगी रहेगी तो उद्योग रहेगा। इस बंद में हम सरकार के साथ है पर केंद्र व राज्य सरकार से भी हम मदद की उम्मीद रखते है क्योंकि इंडस्ट्री बंद होने के बाबजूद भी हमे कई तरह के चार्ज लग रहे हैं जिनमें हमें रियायत दी जानी चाहिए।

वही फैक्टरीयों में काम करने वाले मोहित और अमित का कहना है कि बंद का यह फैसला बेहद सही है जिसका हम लोग समर्थन करते है क्योंकि फैक्ट्रियों में रोज़ाना सैंकड़ो मजदूर काम करते है अगर किसी एक में भी कोरोना के लक्षण हुए तो फिर इस वायरस को फैलने से कोई नही रोक सकता इस लिए हमारा यह मानना है कि सभी को अपने घरों में ही रहना चाहिए जिससे सभी का बचाओ होगा। इसके इलावा फैक्टरी मालिकों की तरफ से हमें घर बैठे ही सेलरी देने का जो फैसला लिया गया है वह एक सराहनीय काम है, इससे हमे आर्थिक सहायता मिलेगी और जरूरत पड़ने पर इस पैसे से अपने घर का गुजारा चला सकेंगे।