General News

पुलवामा हमला : घायल सैनिक को देख पिता को लगा सदमा, अस्पताल में भर्ती

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

गोरखपुर : गोरखपुर जिले के गुलरिहा क्षेत्र में रहने वाले सत्यनारायण कुमार को पुलवामा आतंकवादी हमले में गंभीर रूप से घायल अपने बेटे को टेलीविजन पर देखने के बाद सदमे के कारण अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा।

सत्यनारायण ने शनिवार की रात पुलवामा के सैनिक अस्पताल में घायल जवानों से मुलाकात करने गए केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह को अपने बेटे अवधेश कुमार का हाल-चाल पूछते टेलीविजन पर देखा था।

परिजन के मुताबिक अवधेश सीआरपीएफ में तैनात हैं। उनके सर और हाथ पर गंभीर चोटें नजर आ रही हैं। इसे देखकर परिवार के लोग चिंतित हो गए और सत्यनारायण को सदमा लगने की वजह से शनिवार देर रात अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा।

अवधेश के भाई अमित कुमार ने सेना को फोन करके इस बात की पुष्टि की कि उनके भाई पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले में जख्मी हो गए हैं और उनकी हालत स्थिर बनी हुई है।


वहीं महराजगंज जिले के शहीद पंकज त्रिपाठी के परिजनों से मिलने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ रविवार को उनके गांव हरपुर पहुंचे थे । उन्होंने शहीद के परिवार के प्रती संवदेनाए प्रकट करते हुए उन्हें हर तरह की मदद का आश्वासन दिया । 

बता दें पुलवामा हमले में उत्तर प्रदेश से 12 जवान शहीद हुए हैं ।  सीएम योगी ने यूपी के अलग - अलग जिलों के सभी 12 जवानों के परिजनों के परिजनों को 25-25 लाख की अनुग्रह राशि और परिवार के एक व्यक्ति को नौकरी देने की घोषणा की थी । इसके अलावा योगी ने ऐलान किया था कि सभी शहीदों के गांवों के संपर्क मार्गों का नाम जवानों के नाम पर किया जाएगा । 


पुलवामा हमले के बाद केंद्र सरकार ने एक्शन लेते हुए  जम्मू-कश्मीर में मीरवाइज उमर फारुक समेत छह अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा वापस ले ली । यह फैसला पुलवामा आतंकवादी हमले के मद्देनजर लिया गया है। अधिकारियों ने यहां बताया कि मीरवाइज के अलावा अब्दुल गनी भट, बिलाल लोन, हाशिम कुरैशी, फजल हक कुरैशी एवं शबीर शाह को दी गई सुरक्षा वापस ले ली गई है। 

यह भी पढ़े - पुलवामा अटैक : सानिया मिर्जा ने पूछा - क्या सोशल मीडिया पर अफसोस जताना ही देशभक्ति ? तो लोगों ने दी कुछ ऐसी प्रतिक्रिया.

 

(इनपुट - भाषा )

DO NOT MISS