General News

Shocking: शौहर ने दिया तीन तलाक, अब फतवा दिखा कर अधेड़ मामा से हलाला की शर्त

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

सहारनपुर में तीन तलाक देकर महिला को बेघर करने वाले ससुराली अब फतवा दिखाकर अपने अधेड़ मामा से हलाला कराने के दबाव बना रहा है। पीड़िता राबिया ने जिलाधिकारी डीएम से गुहार लगाई तो यह मामला सामने आया। 

जानकारी के अनुसार सहारनपुर की रहने वाली रबिया का निकाह करीब तीन साल पहले उत्तराखंड के रहने वाले राव मुनीर के साथ हुआ था। पीड़िता पेशे से डॉक्टर है। राबिया ने कहा कि वह अपने पति के साथ एक दिन घूमने के लिए गई थी वहां किसी बात को लेकर हुई मामलू कहासुनी के बाद पति ने अपने मामा के कहने पर 30 जनवरी 2017 को तलाक-तलाक-तलाक कहते हुए तलाक दे दिया था। इस घटना के बाद पीड़िता अपने मायके चली आई। 

राबिया अब तक इस सदमे से उबरी नहीं थी कि ससुराल वालों ने उस पर ''हलाला''  का दबाव बनाना शुरु कर दिया।  पीड़िता राबिया की माने तो पति राव ने भी अपने अधेड़ मामा और छोटे भाई (देवर) के साथ हलाला करने को कहा। उसने वापस ससुराल ले जाने की बात की तो पति ने दारुल उलूम का फतवा दिखाकर हलाला कराने की शर्त रख दी।  जब मामा के साथ हलाला करने का दबाव बनाया गया तो राबिया को शक हुआ कि मामा ने साजिश के तहत पहले तलाक दिलवाया और खुद से ही हलाला करने का दबाव बनाया। इस मामले में जब राबिया ने मामा से बात करने कि कोशिश तो उन्होंने अपना रुतवा दिखाते हुए चुप्पी साध लेने को कहा। 

इस पर पीड़िता ने पुलिस थाने पहुंचकर रिपोर्ट दर्ज कराई लेकिन मामले में जांच आगे नहीं बढ़ सकी। इस बीच पीड़िता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ को भी अपनी व्यता लिखी फिर भी जांच आगे नहीं बढ़ सकी। सोमवार को पीड़िता डीएम आलोक कुमार पांडेय के पास शिकायती पत्र लेकर पहुंची। डीएम ने कानून के दायरे में मदद का भरोसा दिलाया। सुप्रीम कोर्ट में तीन तलाक के खिलाफ केस लड़ने वाली फरहा फैज भी जिलाधिकारी के पास पीड़िता के साथ पहुंचीं। 


 

DO NOT MISS