General News

आप को मिला प्रशांत किशोर की कंपनी आई-पैक का साथ, नीतीश कुमार से आज करेंगे मुलाकात

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

अगले साल होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री एवं आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को घोषणा की कि प्रशांत किशोर की राजनीतिक परामर्शदाता कंपनी ‘आई-पैक’ ने उनसे हाथ मिला लिया है।

मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया, ‘‘ मुझे यह खबर साझा करते हुए खुशी हो रही है कि ‘इंडियनपैक’ ने हमारे साथ हाथ मिलाया है। आपका स्वागत है। ’’


‘इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमेटी’ (आई-पैक) अभी 2021 पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस के साथ मिलकर काम कर रही है ताकि ममता बनर्जी लगातार तीसरी बार मुख्यमंत्री बन सकें।
 

 यह भी कयास लगाया जा रहा है  शिवसेना - एनसीपी - कांग्रेस गठबंधन के पर्दे के पीछे मास्टरमाइंड जदयू के राष्ट्रीय उप्धायक्ष और चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ही हैं। 


अटकलें हैं कि सीएम नीतीश कुमार, पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के बाद आंध्र प्रदेश में जगनमोहन रेड्डी को सत्ता तक पहुंचाने वाले प्रशांत किशोर ने उद्धव ठाकरे से किया गया वादा पूरा किया!

याद दिला दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनावी अभियान से प्रशांत किशोर की पहचान जीत की गारंटी दिलाने वाले के तौर पर हुई। बीजेपी से मदभेद के बाद किशोर ने 2015 में जेडीयू का दामन थामा। उन्होंने बिहार विधानसभा चुनाव में अहम भूमिका निभाई । सीएम नीतीश कुमार के जनसंपर्क अभियान 'हर-घर दस्तक' और 'बिहार में बहार है, नीतीशे कुमार है' जैसे लोकप्रिय नारे के पीछे भी किशोर ही थे। 

इसके बाद प्रशांत ने 2017 में विधानसभा चुनावो में कांग्रेस पार्टी के पंजबा और यूपी में चुनावी अभियान का कमान संभाला। उन्होंने कैप्टन अमरिंदर सिंह के कॉफी विद कैप्टन और राहुल गांधी की किसान यात्रा और खाट सभा की रूप रेखा तैयार की थी। इसी वजह से प्रशांत किशोर के रिश्ते कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी अच्छे हैं। और इसी का फायदा उन्हें महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे को सीएम बनवाने में मिला।  

यह भी पढ़े- INSIDE STORY: शिवसेना -एनसीपी - कांग्रेस गठबंधन के पीछे क्या असली किंगमेकर हैं प्रशांत किशोर?

यह भी पढ़े- नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर JDU के समर्थन पर बिफरे प्रशांत किशोर, ट्वीट कर किया कटाक्ष

 

DO NOT MISS