Delhi chief minister Arvind Kejriwal (PTI file)
Delhi chief minister Arvind Kejriwal (PTI file)

General News

प्रदूषण का स्तर कम हुआ, अब सम-विषम योजना की कोई आवश्यकता नहीं : CM केजरीवाल

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि क्योंकि प्रदूषण का स्तर कम हो गया है, इसलिए दिल्ली में अब वाहनों के लिए सम-विषम योजना की कोई आवश्यकता नहीं है।

दिल्ली सरकार ने शहर की वायु गुणवत्ता के ‘‘गंभीर श्रेणी’’ में पहुंच जाने के चलते चार नवंबर से इस योजना को लागू किया था। योजना 15 नवंबर को खत्म हो गई। तब केजरीवाल ने कहा था कि जरूरत पड़ने पर इसे विस्तारित किया जा सकता है और इस बारे में अंतिम निर्णय सोमवार को किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘आसमान अब साफ है, इसकी (योजना की) कोई आवश्यकता नहीं है।’’ योजना के दौरान नियम का उल्लंघन करने पर पांच हजार से अधिक लोगों पर चार-चार हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया।


दिल्ली में सोमवार को वायु गुणवत्ता में मामूली सुधार हुआ लेकिन वह लगातार दूसरे दिन ‘खराब’ श्रेणी में बनी हुई है। सोमवार को सुबह नौ बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) राष्ट्रीय राजधानी में 207 दर्ज की गई जबकि यह रविवार को इसी समय 254 दर्ज की गई थी।

रविवार रात में यह गिरकर 198 पहुंच गई थी जो कि ‘मध्यम’ श्रेणी है। गुड़गांव में सोमवार को वायु गुणवत्ता 138 (मध्यम) जबकि गाजियाबाद में 231, नोएडा में 212 और ग्रेटर नोएडा में 204 दर्ज किया गया।

वायु गुणवत्ता 201-300 के बीच ‘खराब’ मानी जाती है। वहीं 301-400 के बीच ‘बेहद खराब’ और 401-500 के बीच ‘गंभीर’ मानी जाती है।

विशेषज्ञों ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ की वजह से दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में प्रदूषक कणों के बिखराव में मदद मिली थी।
 

DO NOT MISS