General News

राजनीतिक दलों ने वायुसेना की तारीफ की, BJP ने कहा- ''मोदी के नेतृत्व में भारत सुरक्षित''

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

पाकिस्तान में आतंकी शिविरों पर भारत की कार्रवाई के बाद विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं ने वायुसेना की जमकर तारीफ की तो भाजपा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्णायक नेतृत्व में देश सुरक्षित है। 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वायुसेना के पायलटों को सलाम किया।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि आज की कार्रवाई ने यह पुन: साबित किया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मजबूत और निर्णायक नेतृत्व में भारत पूरी तरह सुरक्षित है। 

शाह ने कहा ‘‘भारत की जांबाज सेना को उनकी बहादुरी और वीरता के लिए मैं बधाई देता हूं और उनके हौसले को सलाम करता हूं।’’

उन्होंने कहा ‘‘पाकिस्तान में भारतीय वायु सेना के हमले नये भारत के संकल्प और उसकी इच्छाशक्ति को रेखांकित करते हैं। भारत आतंकवाद को कभी बर्दाश्त नहीं करेगा।’’

भाजपा महासचिव राम माधव ने कहा, ‘‘हमारे जवानों की शहादत का दर्द महसूस करने और आक्रोशित होने वाले हर भारतीय को आज की सुबह राहत और प्रसन्नता मिली। इस अभियान के लिए हम वायुसेना को सलाम करते हैं। हमारे सुरक्षा बल विश्वस्तरीय हैं। यह हमारे प्रधानमंत्री और टीम की राजनीतिक इच्छाशक्ति है जिसने फर्क डाला है।’’ 

कार्रवाई वाला बालाकोट पीओके में है या खैबर पख्तूनख्वाह में है, इसको लेकर चल रही अटकलों पर माधव ने कहा कि खैबर पख्तूनख्वाह वाले बालाकोट में आतंकी शिविरों को नष्ट किया है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, 'मैं वायुसेना के पायलटों को सलाम करता हूं।' 

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, "वायु सेना के जाबांज रणबांकुरों को नमन। नभः स्पृशं दीप्तम्।' 

केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने भी पाकिस्तान के भीतरी हिस्से में भारतीय वायु सेना के हवाई हमले की मंगलवार को सराहना की और कहा कि पूरा राष्ट्र सशस्त्र बलों के साथ खड़ा है।

उन्होंने कहा, ‘‘देश की सुरक्षा के लिए यह एक आवश्यक कदम था...यह महा पराक्रम की एक कार्रवाई है।’’ 

जावड़ेकर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद होने के मद्देनजर बलों को आवश्यक कदम उठाने के लिए पहले ही छूट दे दी थी।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने वायुसेना की तारीफ करते हुए कहा, ‘‘वायुसेना का मतलब बेहतरीन योद्धा। जयहिंद।’’ 

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा, ‘‘वायुसेना के हवाई हमले पाकिस्तान और आतंकवादियों को बहुत जरूरी संदेश दिया है- यह मत सोचिए कि आप पुलवामा हमले जैसी हरकत करेंगे और बच जाएंगे। वायुसेना के जवानों को शाबासी देता हूं और इस कार्रवाई के प्रति पूरा समर्थन जताता हूं।’’ 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘मैं भारतीय वायु सेना के पायलटों की बहादुरी को सलाम करता हूं जिन्होंने पाकिस्तान में आतंकी ठिकानों को निशाना बना कर हमें गौरवान्वित किया है।’’ 

बसपा प्रमुख मायावती ने कहा, ‘‘जैश आतंकियों आदि के खिलाफ पीओके में घुसकर भारतीय वायुसेना के बहादुर जाँबाज़ों की साहसिक कार्रवाई को सलाम व सम्मान। काश हमारी सेना को फ्री हैण्ड भाजपा की सरकार पहले दे देती तो बेहतर होता।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री ने पुलवामा के जवानों की शहादत के बदले में कार्रवाई करने के लिये अब जो फ्री हैण्ड सेना को दिया है अगर यह फैसला मोदी सरकार द्वारा पहले ले लिया गया होता तो पठानकोट, ऊरी व पुलवामा जैसी अति-दुःखद व अति-चिन्तित करने वाली घटनायें नहीं होती और न ही इतने जवान शहीद होते।’’

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा, ‘‘अपनी वायुसेना और सशस्त्र बलों को सलाम करता हूं। बहुत बधाई।’’ 

नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने मंगलवार को कहा कि भारतीय वायुसेना द्वारा जैश-ए-मोहम्मद की शिविरों पर किया गया हमला ‘‘बिल्कुल नया तरीका है’’ क्योंकि यह पहली बार है जब शांति काल में पड़ोसी देश स्थित आतंकी ठिकानों पर हवाई हमला किया गया है।

अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, ‘‘बालाकोट हवाई हमले के साथ ही हम नई मिसाल में पहुंच गए हैं। उरी के बाद हुआ सर्जिकल स्ट्राइक हमारे नुकसान का बदला लेने के लिए था, लेकिन बालाकोट जैश के संभावित हमलों को रोकने के लिए बरता गया एहतियात है। बिल्कुल नया तरीका है।’’ 

इसे भी पढ़ें - आतंकिस्तान के खिलाफ एयर स्ट्राइक के बाद PM मोदी का पहली प्रतिक्रिया, 'सौगंध मुझे इस मिट्टी की, मैं देश नहीं मिटने दूंगा'

पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने कहा, ‘‘भारतीय वायुसेना द्वारा तड़के किए गए हमलों के बाद अलग-अलग बयान आ रहे हैं। विदेश सचिव के आधिकारिक बयान में दावा किया गया है कि आतंकवादी प्रशिक्षण शिविरों पर बमबारी की गई है जबकि पाकिस्तान ने इससे इंकार किया है। उसका कहना है कि दिखने के बाद विमान जल्दीबाजी में वापस लौट गए। आशा करती हूं कि दोनों पक्षों के हित सध रहे हैं।’’ 

दरअसल, भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमानों ने मंगलवार को तड़के नियंत्रण रेखा के दूसरी ओर पाकिस्तानी हिस्से में कई आतंकी शिविरों पर बमबारी की। 

यह कार्रवाई जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को आतंकी गुट जैश ए मोहम्मद द्वारा किए गए आत्मघाती हमले के ठीक 12 दिन बाद की गई है।

पुलवामा हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे।

DO NOT MISS