General News

PAK पर बरसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी : हम किसी को छेड़ते नहीं, मगर छेड़ने वालों को छोड़ते नहीं

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:


यवतमाल : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को पुलवामा हमले के लिये निशाना साधा और लोगों से संयम रखने और सुरक्षा बलों पर भरोसा कायम रखने की अपील की। उन्होंने कहा कि सुरक्षा बलों को हमले के साजिशकर्ताओं को सजा देने की पूरी आजादी दे दी गई है।

महाराष्ट्र के यवतमाल जिले के पांधरकावड़ा में कई परियोजनाओं की शुरूआत करने पहुंचे प्रधानमंत्री ने एक जनसभा में कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद का पर्याय बन गया है।

उन्होंने कहा, ‘‘एक देश जो विभाजन के बाद अस्तित्व में आया और आतंकवादी गतिविधियों को बढ़ावा देता है और जो दीवालिया होने के कगार पर है, आज आतंकवाद का पर्याय हो चुका है।’’ 

प्रधानमंत्री ने कहा, "पुलवामा के शहीदों की शहादत बेकार नहीं जाएगी। हमारे सुरक्षा बलों को हमले के साजिशकर्ताओं को सजा देने की खुली छूट दे दी गई है।" उन्होंने कहा कि आतंकी संगठन छिपने की कितनी भी कोशिश कर लें, उन्हें खोजकर उनके अपराधों की सजा दी जाएगी।

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में बृहस्पतिवार को हुए आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों की मौत हो गई थी जबकि पांच अन्य घायल हैं। जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती हमलावर ने 100 किलोग्राम विस्फोटक से भरे एक वाहन से सीआरपीएफ की बस को टक्कर मारकर इस हमले को अंजाम दिया था।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, "हम पुलवामा के शहीदों के परिवारों का दर्द महसूस कर सकते हैं, हम आपके गुस्से को समझते हैं।" मोदी ने रैली के दौरान लोगों से पूछा,‘‘ क्या आप मेरे काम और मेरे प्रयासों से खुश हैं?’’ 

एक कार्यक्रम की शुरुआत में पुलवामा हमले के शहीदों को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इसमें केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और हंसराज अहीर, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस और राज्यपाल विद्यासागर राव भी मौजूद थे।

एक अन्य कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने आदिवासी छात्रों के लिये एकलव्य मॉडल रेजिडेंशियल स्कूल का उद्घाटन किया और प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बनाए गए घरों की चाबियां लाभार्थियों को सौंपी।

मोदी ने अजनी (नागपुर)-पुणे ट्रेन सेवा का वीडियो लिंक के जरिये उद्घाटन किया और महाराष्ट्र राज्य ग्रामीण महिला आजीविका मिशन (एमएसआरएलएम) के तहत महिला सहायता समूहों को चेक भी बांटे।


यह भी पढ़े-  भारत की अखंडता की रक्षा में सुरक्षा बलों का समर्थन करने के लिए एकजुट हुई राजनीतिक पार्टियां

 

DO NOT MISS