General News

राफेल सौदे पर बोलें PM मोदी, "वे लोग जो सेना को कमज़ोर करना चाहते हैं, वे आरोप लगा रहे हैं''

Written By Asian News International (ANI) | Mumbai | Published:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि कांग्रेस उन पर कीचड़ उछालना चाह रही है, हालांकि पार्टी के पास उन्हें गलत साबित करने के लिए कुछ भी नहीं है.

ANI को दिए एक विशेष इंटरव्यू में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उन पर लगाए गए आरोप वास्तव में भारतीय सुरक्षा बलों को कमजोर कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि राफेल सौदे में कांग्रेस के आरोपों के बावजूद, वो रक्षा में खरीद प्रक्रिया में तेजी लाते रहेंगे ताकि देश की सुरक्षा से समझौता न हो.

मोदी ने राफेल जेट खरीद सौदे में भ्रष्टाचार के आरोपों के जवाब में कहा, "वे लोग जो सेना को कमज़ोर करना चाहते हैं, वे आरोप लगा रहे हैं. क्या मुझे चिंता होनी चाहिए कि वे मुझ पर निजी हमले कर रहे हैं, या क्या मेरे देश की ज़रूरतें पूरी की जानी चाहिए? मैंने फैसला किया कि जो भी गालियां मुझे दी जाती हैं, जो भी आरोप मेरे ऊपर लगे हैं?, मैं ईमानदारी की राह पर चलता रहूंगा और देश की सुरक्षा को प्रधानता दूंगा. मैं अपने सेना के जवानों को उनके भाग्य पर नहीं छोड़ूंगा. उनकी आवश्यकता जो भी हो, मैं खरीद प्रक्रियाओं में तेजी लाऊंगा. आरोप लगाने पर भी मैं ऐसा करूंगा. मुझे सम्‍मिलित किया,” 

ये पूछे जाने पर कि वो क्रोनी पूंजीवाद और राफेल सौदे में अनिल अंबानी के पक्षधर होने के कांग्रेस के आरोपों पर चुप क्यों थे? मोदी ने जवाब दिया, "ये मेरे खिलाफ व्यक्तिगत रूप से आरोप नहीं है, लेकिन मेरी सरकार के खिलाफ आरोप है. मेरे खिलाफ व्यक्तिगत रूप से यदि कोई आरोप है, तो वो बताएं."

उन्होंने कहा, "संसद में मैंने इस पर विस्तार से बात की है और मुझे जो भी सार्वजनिक मंच मिला है, मैंने इस बारे में बात की है. इस मामले को सुप्रीम कोर्ट ने भी मंजूरी दे दी है. सुप्रीम कोर्ट ने इसकी जांच की. फ्रांस के राष्ट्रपति ने बात की है. मीडिया को पूछने का साहस है कि इन आरोपों के लिए उन्हें (कांग्रेस) सबूत कहां है? वे (कांग्रेस) कोई भी वास्तविक सबूत देने में सक्षम नहीं हैं, बस बात करते हैं. उनको ये बोलने की बीमारी है तो मुझे क्या बार-बार मुझे उसी में उलझ जाना चाहिए"

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में इस बात पर बहस होनी चाहिए कि आजादी के बाद से और रक्षा खरीद में बिचौलियों की जरूरत पर रक्षा सौदों को लेकर विवाद क्यों पैदा हुए.

उन्होंने कहा, "आजादी के बाद से रक्षा सौदों को लेकर विवाद क्यों पैदा हुए और हमारी सेना कमजोर हुई. कौन कर रहा है? क्या कारण है? इसके अलावा, रक्षा सौदों में बिचौलियों की क्या जरूरत है? बिचौलियों के बिना रक्षा सौदा नहीं किया जा सकता है?" यदि मेक इन इंडिया 70 साल पहले शुरू किया गया होता, तो बाहर से मलाई खाने वाला रास्ता बंद हो जाता. मेरा अपराध ये है कि मैं मेक इन इंडिया की कोशिश कर रहा हूं. मेरा अपराध ये है कि हमारे रक्षा बलों को जो कुछ भी चाहिए, वो भारत में होना चाहिए. ताकि देश के बाहर के सौदे समाप्त हों. मैं प्रौद्योगिकी हस्तांतरण प्राप्त करने की कोशिश कर रहा हूं" 

प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के इस आरोप को दूर करने की कोशिश की कि खरीद उनके मेक इन इंडिया पहल को नुकसान पहुंचाएगी.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल सौदे में प्रधानमंत्री मोदी पर अनिल अंबानी के रिलायंस समूह का पक्ष लेने का आरोप लगाया है. दसॉल्ट एविएशन को ऑफसेट क्लॉज के माध्यम से इसके साथ जोड़ने के लिए, भारत सरकार और दसॉल्ट दोनों द्वारा आरोपों का खंडन किया.

DO NOT MISS