General News

PM मोदी, अबुधाबी के शहजादे ने भारत-यूएई व्यापार, सांस्कृतिक संबंध सुधारने पर चर्चा की

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अबुधाबी के शहजादे शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान से भारत और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के बीच व्यापार और सांस्कृतिक संबंधों को सुधारने के तरीकों पर शनिवार को चर्चा की। 

मोदी का स्वागत करते हुए वली अहद नाहयान ने अपने ‘‘भाई” का “अपने दूसरे घर” आने के लिए आभार जताया। 

बैठक के बाद मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘शाहजादे मोहम्मद बिन जायद के साथ बैठक शानदार रही। हमने भारत और यूएई के बीच व्यापार और दोनों देशों के लोगों के बीच संबंधों को सुधारने सहित कई विषयों पर बातचीत की।’’ 

प्रधानमंत्री ने कहा कि द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने की शाहजादे की ‘‘व्यक्तिगत प्रतिबद्धता काफी मजबूत है।’’ विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि दोनों नेताओं के बीच संबंध में “नयी ऊर्जा” देखने को मिली। 

कुमार ने शहजादे के हवाले से कहा, ‘‘मैं शुक्रगुजार हूं कि मेरा भाई अपने दूसरे घर आया है।” 

द्विपक्षीय निवेशों के मजबूत प्रवाह और करीब 60 अरब डॉलर के वार्षिक द्विपक्षीय व्यापार के साथ यूएई भारत का तीसरा सबसे बड़ा व्यापार साझेदार है। वह भारत के लिए कच्चे तेल का चौथा सबसे बड़ा निर्यातक है।

यूएई की आधिकारिक संवाद समिति डब्ल्यूएएम को दिए साक्षात्कार में मोदी ने कहा कि भारत को यूएई के रूप में एक ‘‘बहुमूल्य साझीदार’’ मिला है जिससे 2024-25 तक पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था का महत्वाकांक्षी लक्ष्य हासिल किया जा सकेगा।

उन्होंने कहा कि यूएई- भारत के बीच संबंध ‘‘अभी तक की सबसे अच्छी स्थिति’’ में है और भारत के महत्वपूर्ण क्षेत्रों में यूएई का निवेश बढ़ रहा है। 

मोदी ने कहा, ‘‘भारत में नवीकरणीय ऊर्जा, खाद्य, बंदरगाह, हवाई अड्डे, रक्षा निर्माण और अन्य क्षेत्रों में निवेश की रूचि बढ़ रही है। ढांचागत क्षेत्रों और आवास के क्षेत्र में यूएई के निवेश में बढ़ोतरी हो रही है।’’ 

उन्होंने कहा कि यूएई द्वारा भारत में 75 अरब डॉलर के निवेश का लक्ष्य हासिल करने के लिए दोनों देश मिल-जुलकर काम कर रहे हैं।

(इनपुट- भाषा)
 

DO NOT MISS