PC- Twitter/@PMOIndia
PC- Twitter/@PMOIndia

General News

ब्रिक्स नेताओं ने संरा में ‘तत्काल’ सुधार का आह्वान किया

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

 

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चार अन्य ब्रिक्स नेताओं ने गुरुवार को संयुक्त राष्ट्र और डब्ल्यूटीओ व आईएमएफ समेत अन्य बहुपक्षीय संगठनों को मजबूत बनाने और उनमें सुधार की “तत्काल जरूरत” का आह्वान किया जिससे विकासशील देशों के सामने आ रही महत्वपूर्ण चुनौतियों का समाधान किया जा सके।



प्रधानमंत्री मोदी 11वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिये ब्राजील की राजधानी ब्रासीलिया में थे।



भारत, ब्राजील, रूस, चीन और दक्षिण अफ्रीका के नेताओं ने एक संयुक्त बयान में कहा कि वे बहुपक्षवाद,शांति व सुरक्षा बनाए रखने के लिये संप्रभु राष्ट्रों के बीच सहयोग, सतत विकास और मानवाधिकारों व सभी के लिये मौलिक स्वतंत्रता सुनिश्चित करने व उसे बढ़ावा देने के लिये प्रतिबद्ध हैं। वे अंतरराष्ट्रीय समुदाय के लिये उज्ज्वल साझा भविष्य बनाने को लेकर भी संकल्पित हैं।

ब्रिक्स नेताओं ने कहा कि वे “बहुपक्षवाद के रास्ते में आने वाली अहम चुनौतियों से पार पाने और अंतरराष्ट्रीय मामलों में संयुक्त राष्ट्र की केंद्रीय भूमिका को बरकरार रखने तथा अंतरराष्ट्रीय कानूनों का सम्मान करने” के लिये प्रतिबद्ध हैं।

उन्होंने कहा, “हम संयुक्त राष्ट्र, डब्ल्यूटीओ, आईएमएफ और अन्य अंतरराष्ट्रीय संगठनों को सुदृढ़ बनाने और सुधार करने की तत्काल आवश्यकता पर जोर देते हैं और हम इन्हें ज्यादा समावेशी, लोकतांत्रिक, प्रतिनिधित्ववादी बनाने के लिये काम करते रहेंगे। हम उभरते बाजारों की ज्यादा सहभागिता और अंतरराष्ट्रीय मामलों में निर्णय में विकासशील देशों की भागीदारी पर भी काम करेंगे।”

बयान में कहा गया, “हम 2005 के विश्व शिखर सम्मेलन में अंगीकार किये गए दस्तावेज को याद करते हुए एक बार फिर सुरक्षा परिषद समेत संयुक्त राष्ट्र के व्यापक सुधार की जरूरत पर बल देते हैं। हमारा नजरिया इसे ज्यादा प्रतिनिधित्ववादी, प्रभावी और दक्ष बनाने और विकासशील देशों का प्रतिनिधित्व बढ़ाने का है जिससे यह वैश्विक चुनौतियों को पर्याप्त तरीके से प्रतिक्रिया दे सके।”


चीन और रूस ने जोर देकर कहा कि वे अंतरराष्ट्रीय मामलों में ब्राजील, भारत और दक्षिण अफ्रीका की स्थिति और भूमिका को महत्व देते हैं तथा संयुक्त राष्ट्र में महती भूमिका निभाने की उनकी अकांक्षाओं का समर्थन करते हैं।


यह भी पढ़े-मोदी..शी की ब्राजील में बैठक के बाद भारत, चीन अगले दौर की सीमा वार्ता करने पर हुए सहमत

यह भी पढ़े-  PM मोदी को ब्रिक्स सम्मेलन से आर्थिक, सांस्कृतिक संबंध मजबूत होने की उम्मीद

DO NOT MISS