General News

प्रधानमंत्री मोदी ने ह्यूस्टन में कश्मीरी पंडितों से मुलाकात की, नया कश्मीर बनाने का किया वादा

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कश्मीरी पंडितों के 17 सदस्यों वाले एक प्रतिनिधिमंडल से यहां मुलाकात की और उन्हें ‘एक नए कश्मीर के निर्माण’ का आश्वासन दिया। इस प्रतिनिधिमंडल में अमेरिका के अलग-अलग हिस्सों के प्रतिनिधि शामिल हैं। प्रतिनिधिमंडल ने मोदी के ह्यूस्टन पहुंचने के बाद उनसे मुलाकात की।

प्रधानमंत्री ने प्रतिनिधिमंडल से कहा, ‘‘ कश्मीर में नई हवा बह रही है और हम साथ मिलकर एक नया कश्मीर बनाएंगे, जो सबके लिए होगा।’’ भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को पांच अगस्त को खत्म कर दिया और इसे दो केंद्रशासित क्षेत्रों में बांट दिया।


मोदी ने कश्मीरी पंडितों को 30 साल तक इंतजार करने के लिए शुक्रिया अदा किया। प्रधानमंत्री ने बाद में ट्वीट भी किया, ‘‘ कश्मीरी पंडितों से ह्यूस्टन में विशेष चर्चा हुई।’’

इससे पहले विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया कि कश्मीरी पंडितों ने भारत की प्रगति के लिए भारत सरकार द्वारा उठाए गए कदम का समर्थन किया है।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ ह्यूस्टन में कश्मीरी पंडित समुदाय के एक प्रतिनिधिमंडल ने प्रधानमंत्री से मुलाकात की। उन्होंने स्पष्ट रूप से भारतीय लोगों की प्रगति और उनके सशक्तिकरण के लिए उठाए जा रहे कदमों का समर्थन किया।’’

प्रतिनिधिमंडल ने प्रधानमंत्री मोदी के इस कदम का समर्थन किया और कहा कि इस समुदाय के सात लाख लोग उनकी सरकार के प्रति ‘आभारी’ हैं।

प्रतिनिधिमंडल ने मोदी को एक मसौदा ज्ञापन भी दिया और उनसे आग्रह किया कि इस समुदाय को साथ लाने, क्षेत्र के विकास और कश्मीरी पंडितों की वापसी के लिए गृह मंत्रालय के तहत एक कार्यबल की स्थापना की जाए।

इस प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करने वाले सुरिंदर कौल ने कहा, ‘‘ प्रधानमंत्री ने हमसे कहा कि हम लोगों ने काफी कुछ झेला है और अब हम साथ मिलकर एक नए कश्मीर का निर्माण करेंगे।’’

प्रधानमंत्री ने यहां दाउदी बोहरा समुदाय के प्रतिनिधिमंडल से भी मुलाकात की। इसके अलावा वह सिख समुदाय के लोगों से भी मिले।
 

DO NOT MISS