General News

पीएम मोदी ने आतंकवादी घटनाओं से निपटने के तरीके को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान के बालाकोट में भारत के हवाई हमले का सबूत मांगने वालों पर शनिवार को एक बार फिर निशाना साधा और मुम्बई हमले के बाद आतंकवादी हमले की घटनाओं से निपटने के तरीके को लेकर पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार की आलोचना की।

मोदी ने ग्रेटर नोएडा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि वोट हासिल करने के लिए भ्रष्ट उनका विरोध कर रहे हैं और उन्हें कोस रहे हैं।

2014 में प्रधानमंत्री बनने वाले मोदी ने कहा कि भारत आज ‘नयी रीति, नयी नीति’ पर काम करता है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि उरी (जम्मू कश्मीर) में 2016 में आतंकवादी हमले के बाद देश ने पहली बार ‘‘आतंकवादियों को सर्जिकल स्ट्राइक से उस भाषा में सबक सिखाया जो वे समझते हैं।’’ 

उन्होंने वहां बड़ी संख्या में मौजूद लोगों से सवाल किया, ‘‘क्या आपके लिए ऐसी सरकार ठीक है जो कुछ ना करे? एक ऐसा चौकीदार (प्रधानमंत्री की ओर इशारा करते हुए) जो सोता हो?’’ 

मोदी ने कहा, ‘‘उरी के बाद सबूत मांगे गए। हमारे सैनिकों ने कुछ ऐसा किया जो पहले कभी नहीं हुआ। हमारे सैनिकों ने आतंकवादियों को उनके घर में मारा। आतंकवादी और उनके सरपरस्तों को ऐसी कार्रवाई की उम्मीद नहीं थी। उन्होंने सोचा कि यदि भारत ने एक बार सर्जिकल स्ट्राइक की तो वे दोबारा उसी तरह का कुछ करेंगे। इसलिए उन्होंने सीमा पर सैनिक तैनात किये थे, लेकिन हम इस बार हवाई मार्ग से गए।’’ 

उन्होंने कहा कि 24 फरवरी को तड़के हवाई हमले के बाद भारत स्थिति पर शांत तरीके से नजर रखे हुए था और वह पाकिस्तान था जो सुबह करीब पांच बजे ‘‘रोने’’ लगा कि ‘‘मोदी ने हम पर हमला किया है।’’ 

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘वे सोच रहे थे कि वे भारत को घायल करते रहेंगे, हमले करेंगे, छद्म युद्ध छेड़ेंगे और भारत जवाब नहीं देगा। भारत के दुश्मनों की इस सोच का कारण 2014 से पहले की ‘रिमोट से चलने वाली सरकार’ का रुख था। इसी कारण से उनका (दुश्मन) यह रुख बना।’’

उन्होंने कहा कि कुछ नेता विवादास्पद बयानबाजी कर रहे हैं जिस पर पाकिस्तान में तालियां बज रही हैं। उन्होंने लोगों से ऐसे व्यक्तियों की पहचान करने और यह निर्णय करने के लिए कहा कि वे उन पर भरोसा करना चाहेंगे या नहीं।

उन्होंने कहा, ‘‘आज हर भ्रष्ट को मोदी से कष्ट है। उनमें इस चौकीदार को कोसने की होड़ है, वे सोचते हैं कि मुझे कोसने से उन्हें वोट मिलेंगे।’’ 

मोदी ने कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और आधारशिला रखने के बाद कहा, ‘‘वे (विपक्ष) इतने निराश हो गए हैं कि मोदी का विरोध करने की अपनी जिद में उन्होंने देश का विरोध करना शुरू कर दिया है।’’ 

प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को गाजियाबद में एक जनसभा को संबोधित करते हुए हवाई हमले पर सवाल उठा रहे अपने प्रतिद्वंद्वियों पर निशाना साधा था और कहा था, ‘‘130 करोड़ लोगों का विश्वास’’ उनके लिए उनका सबूत है।’’ 
 

DO NOT MISS