General News

आज लोगों के 'घर का सपना' पूरा हो रहा है- PM मोदी

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

देश की राजधानी दिल्ली के विज्ञान भवन में कंस्ट्रक्शन टेक्नोलॉजी इंडिया 2019 सम्मेलन को संबोधित करने के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मध्यम वर्ग के लिए अपने घर के सपनों को पूरा करने के लिए हम गंभीर हैं।

उन्होंने कहा कि आज हमारी सरकार के प्रयासों का असर है कि होम लोन पर ब्याज दर पहले के मुकाबले कम हुई है। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत सरकार जो छूट दे रही है उसके बाद लोगों को 5-6 लाख रूपये की बचत हो रही है।

इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने ये भी कहा, ''हमारी सरकार ने सबसे ज्यादा जोर किफायती घरों पर दिया है, रियर एस्टेट सेक्टर से जुड़े कानूनों को ठीक किया है, हमने स्किल डेवलपमेंट पर ध्यान दिया है और इसके साथ ही हमने हाउसिंग सेक्टर में तकनीक के इस्तेमाल में भी काम किया है।''

पीएम ने कहा कि हमारी सरकार ने हाउसिंग सेक्टर की शक्ल बदलने के लिए सात फ्लैगशिप मिशन पर एक साथ काम किया है। स्वच्छ भारत मिशन, प्रधानमंत्री आवास योजना, दीनदयाल अंत्योदय योजना, नेशनल अर्बन लाइवलीहुड मिशन और अमृत योजना जैसे महत्वपूर्ण कार्यक्रम लागू किए गए हैं।

पीएम बोलें, ''लोगों के अपने घर का सपना पूरा करने के लिए हम टेक्नोलॉजी के साथ-साथ दूसरी व्यवस्थाओं को भी बदल रहे हैं। टैक्स से जुड़े नियमों में बदलाव कर रहे हैं। ये इसलिए किया जा रहा है, जिससे मध्यम वर्ग के पास घर खरीदने के लिए ज्यादा पैसा बचे और घर की कीमतें भी कम हों।''

प्रधानमंत्री ने जीएसटी ने भी रियल एस्टेट के कारोबार को ग्राहकों और खरीदारों दोनों के लिए आसान किए जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि हाल में ही कंस्ट्रक्शन सेक्टर पर GST को बहुत कम किया गया है। अफॉर्डेबल हाउसिंग पर GST 8 प्रतिशत से घटाकर 1 प्रतिशत किया गया है, वहीं अंडर कंस्ट्रक्शन हाउसिंग प्रोजेक्ट्स पर GST 12 प्रतिशत से घटाकर 5 प्रतिशत किया गया।

उन्होंने कहा, ''आशा इंडिया यानी Affordable Sustainable Housing Accelerator इस तरह के इनोवेशन्स को बाजार के हिसाब से ढ़ालने में लगा है। आशा GHTC-India का हिस्सा है। इसमें IIT में काम कर रहे चार इन्क्यूबेशन सेंटर पर युवा उद्यमियों के आइडिया को बाजार के हिसाब से उपयोगी बनाने पर काम चल रहा है।''

पीएम ने कहा कि भारत में कंस्ट्रक्शन की अप्रोच में हमने एक और बदलाव किया है। अब चाहे सड़कें हों, रेज़िडेंशियल अपार्टमेंट्स हों या फिर कमर्शियल बिल्डिंग्स, इको फ्रेंडली, Disaster-Resilient और Energy-Efficient निर्माण को प्रोत्साहन दिया जा रहा है।

प्रधानमंत्री मोदी ने इस दौरान ये भी कहा कि फंडिंग के साथ-साथ देश के इतिहास में पहली बार हाउसिंग सेक्टर और रियल एस्टेट सेक्टर को स्पष्ट कानूनों का सहारा मिल सके, इसके लिए भी हम काम कर रहे हैं। रेरा (RERA) से इस सेक्टर में पारदर्शिता आई है।

DO NOT MISS