General News

मिशन 'शक्ति' से बौखलाया चीन, घबराया पाकिस्तान... अंतरिक्ष में बाहुबली हिंदुस्तान

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

थर्राया है पाकिस्तान... चीन में मची है खलबली.. आज हिन्दुस्तान ने अंतरिक्ष में लहाराया है विजय पाताका। भारत ने अपना नाम 'स्पेस पावर' के रूप में दर्ज करा दिया है। अब तक रूस, अमेरिका और चीन को ये दर्जा मिला था, अब भारत ने भी यह उपलब्धि हासिल कर ली है। भारत स्पेस पावर वाला चौथा देश बन गया है। 

भारत की तूती अब अतंरिक्ष में बोल रही है। भारत की इस कामयाबी के बाद पाकिस्तान और चीन घबराये हुए हैं। उनका घबराना भी जरूरी है क्योंकि अब अगर पड़ोसी देशों ने आंखे दिखाई तो भारत अपने दुश्मनों पर स्पेस के जरिए भी हमला कर सकता है। 

युद्ध में ये भारत को बड़ी कामयाबी दिलाएगी और चीन को सबक सिखाने के लिए भारत का ये कदम बेहद जरूरी था। चीन अपने स्पेस पावर में लगातार इज़ाफा कर रहा है।

चीन ने ये कामयाबी 2007 में ही हासिल कर ली थी। चीन ने धरती से मिसाइल दाग कर अपने मौसम उपग्रह को उड़ाया था। चीन की इस हरकत से कई देश नाराज हुए थे। इसके बाद साल 2013 में भी चीन ने पृथ्वी की कक्षा में रॉकेट दागा था। इससे दूसरे देशों के सैटेलाइट्स को खतरा हो सकता था। लेकिन उस दौरान भारत ने चीन के इस बढ़ते कदम पर कोई कार्रवाई नहीं की थी।

इसे भी पढ़ें - अंतरिक्ष का चौथा सुपरपावर बना भारत, अब तक अमेरिका, रूस और चीन ने ही हासिल की है ये उपलब्धि

इसरो और डीआरडीओ के इस सफल परीक्षण के जरिए भारत ने चीन को एक बड़ा संदेश दिया। क्योंकि पाकिस्तान के पास ऐसी कोई ताकत नहीं है। वो केवल और केवल अंतरिक्ष के ज़रिये भारत की जानकारी रखने के लिए चीन पर आश्रित है।

खबर थी कि बालाकोट के बाद पाक चीन से मदद की भीख मांग रहा है। वो सैटेलाइक के ज़रिये भारत की हरकत पर नज़र रखना चाहता था। लेकिन अब समीकरण बदल गए हैं।

अब  चीन और पाकिस्तान की मिसा‍इलों का भारत की रडार से बचना मुश्किल है। इससे न सिर्फ भारत का दुनिया में दबदबा बढ़ा है बल्कि भारत अंतरिक्ष में भी पूर्ण सुरक्षित और मजबूत हो गया है। अब भारत अंतरिक्ष का बाहुबली बन गया है।

DO NOT MISS