General News

BJP का शिवसेना के बयान को समर्थन, प्रकाश जावड़ेकर बोले 'दाऊद के भागने में कांग्रेस ने की मदद'

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:


शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने बुधवार को कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी भी अंडरवर्ल्ड के डॉन करीम लाला से मिलती थीं।  इतना ही नहीं उन्होंने कहा मैंने 1993 मुंबई सीरियल धमाके में प्रमुख आरोपी दाऊद इब्राहिम से भी मुलाकात की थी और उसे लताड़ लगाई थी। 


संजय राउत के बहाने महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने संजय राउत के बहाने कांग्रेस पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि संजय राउत ने बहुत बड़ा खुलासा किया है । साथ ही उन्होंने कांग्रेस पर कई सवाल भी पूछा कि 'क्यों आती थीं इंदिरा गांधीजी मुंबई? क्या अंडरवर्ल्ड के सहारे कांग्रेस चुनाव जीतती थी? क्या कांग्रेस को अंडरवर्ल्ड की फंडिंग थी? क्या कांग्रेस पार्टी को चुनाव जीतने के लिए मसल पावर की जरूरत पड़ती थी?' देवेंद्र फडणवीस ने पूछा, 'छोटा शकिल, दाऊद इब्राहिम मुंबई का सीपी तय करते थे, मंत्रालय में कौन बैठे कौन नहीं, ये भी वही तय करते थे. तो क्या क्रिमिनलाईजेशन ऑफ पॉलिटिक्स की शुरुआत उनके कार्यकाल में हुई?'


 केंद्रिय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने राउत के बयान पर निशाना साधते हुए कहा कि 'दाउद के भागने में कांग्रेस ने मदद की'।

https://twitter.com/Republic_Bharat/status/1217719316176457729 

बता दें एक अखबार को दिए इंटरव्यू  में शिवसेना ने दावा किया कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी मुंबई में डॉन करीम लाला से मिलने आया करती थीं। 1960-80 के बीच करीम लाला का मुंबई में अवैध शराब, जुए और फिरौती का धंधा चलता था। संजय राऊद ने दावा कि दाऊद इब्राहिम, छोटा शकील और शरद शेट्टी जैसे गैंगस्टर उन दिनों मुंबई और उसके आसपास के इलाकों को कंट्रोल करते थे। वे ही तय करते थे कि मुंबई का पुलिस कमिश्नर कौन होगा और कौन मंत्रालय में बैठेगा। जब हाजी मस्तान 'मंत्रालय' में आया करता था तो सभी उसे देखने के लिए नीचे आते थे। हालांकि, शिवसेना सांसद ने आगे कहा कि अब सभी डॉन देश छोड़ कर भाग चुके हैं।


हालांकी बयान पर बवाल मचते ही शिवसेना सांसद संजय राउत अपने बयान से पलट गए ।  उन्होंने कहा कि करीम लाला अफगानिस्तान से आए पठानों के नेता थे और उनसे बहुत से लोग मिलने जाते थे। यह मुलाकात एक पठान नेता के रूप में होती थी जिसमें वह लोगों की समस्या को जानते थे। आपको बता दें कि राउत ने बुधवार को दिए बयान में करीम लाला को अंडरवर्ल्ड डॉन बताया था। सूत्रों की माने तो शरद पवार के दबाव के बाद संजय राउत ने माफी मांगी । 

राउत ने कहा कि मैं इंदिरा, नेहरू और गांधी परिवार का हमेशा सम्मान करते हुए आया हूं। जब मैं  विपक्ष में था तो उस वक्त भी मैं इंदिरा जी का सम्मान करता था। जब-जब इंदिरा गांधी पर हमला हुआ तो मैंने उनका बचाव किया था। 

DO NOT MISS