General News

लाल किले से एक बार फिर PM मोदी ने दिया ‘एक राष्ट्र-एक चुनाव’ पर जोर, कहीं ये बात

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा और विधानसभा के चुनाव एक साथ कराने की जरूरत पर एक बार फिर जोर देते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि ‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ की अवधारणा देश को महान बनाने के लिए आवश्यक है।

73वें स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर से राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि आज भारत एक साथ चुनाव कराने के बारे में बात कर रहा है जो अच्छी बात है। पिछले साल अगस्त में विधि आयोग ने लोकसभा और राज्य विधानसभाओं के चुनाव एक साथ कराने की सिफारिश की थी ताकि जनता के धन को बचाया जा सके। 

इस संबंध में एक मसौदा, कानून मंत्रालय को सौंपा जा चुका है। हालांकि उसमें यह भी कहा गया है कि संविधान के मौजूदा स्वरूप में एक साथ चुनाव संभव नहीं हैं। केंद्र पिछले कुछ समय से इस विचार पर काम कर रहा है।

सरकारी थिंक-टैंक नीति आयोग ने पिछले साल सुझाव दिया था कि 2024 से लोकसभा और विधानसभा चुनावों को एक साथ दो चरणों में कराया जाए, ताकि चुनाव प्रचार संक्षिप्त हो और प्रशासन में व्यवधान कम हो।

इस मुद्दे पर गहन विचार विमर्श के लिए सरकार एक समिति का गठन करेगी।  मोदी ने गुरुवार को लोगों की महत्वाकांक्षाओं में आ रहे बदलाव के बारे में बोलते हुए कहा कि अब भारत में लोग रेलवे स्टेशन के प्रस्ताव भर से खुश नहीं होते, बल्कि वे जानना चाहते हैं कि उनके इलाके में वंदेभारत एक्सप्रेस कब चलाई जाएगी। 

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर देश को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि सरकार ने 100 लाख करोड़ रुपये आधारभूत संरचना के विकास पर खर्च करने का फैसला किया है। 

उन्होंने कहा, ‘‘लोगों के सोचने का नजरिया बदल गया है। पहले, लोग रेलवे स्टेशन की योजना भर से खुश हो जाते थे, अब वे पूछते हैं कि उनके इलाके में वंदेभारत एक्सप्रेस कब आएगी। लोग केवल अच्छा रेलवे स्टेशन या बस अड्डा नहीं चाहते,वे पूछते हैं कि कब बेहतर हवाई अड्डा आएगा।’’ 

मौजूदा समय में वंदेभारत एक्सप्रेस दिल्ली-वाराणसी के बीच चलती है, दूसरी वंदेभारत एक्सप्रेस दिल्ली-कटरा के बीच चलाने की योजना है। वहीं जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के कई प्रावधान हटाने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांटने के सरकार के कदम की पृष्ठभूमि में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को कहा कि ‘हम समस्यों को न टालते हैं, न पालते हैं।’’ 

DO NOT MISS