pc - twitter
pc - twitter

General News

#MeToo : अभियान पर फिल्मकार श्रीराम राघवन ने कहा, 'इससे फिल्म इंडस्ट्री का भला होगा'

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

फिल्मकार श्रीराम राघवन का कहना है कि मी टू अभियान को इस बात का श्रेय जाना चाहिये कि अब लोग महिलाओं के इर्द-गिर्द होने पर भी अपनी हदों में रहेंगे .

राघवन का कहना है कि यह एक बहुत दिलचस्प घटना है और देश में भी इसकी शुरूआत हो चुकी है तथा समय के साथ इसमें और तेजी आएगी .

राघवन ने न्यूज एजेंसी से बात करते हुए कहा, ‘‘कई साल पहले इसे तवज्जो नहीं दी जाती थी लेकिन अब ऐसा नहीं रहा। जो चीजें हो रही है, वह जरूरी चीज है और इससे फिल्म उद्योग का भला होगा। इससे महिलाओं के साथ ऐसी चीजें करने वालों पर लगाम लगेगी।’’ 

‘अंधाधुन’ फिल्म के निर्देशक के मुताबिक, सबसे जो महत्वपूर्ण है कि कई सारी महिलाएं सामने आ रही हैं लेकिन ये ऐसी कहानियां है जिसने उन सबको झकझोर डाला है. 

फिल्मकार ने कहा कि यौन दुराचार करने के आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू होने तक, ऐसे लोगों को परियोजना से बाहर भी किया जाने लगा है .

उन्होंने कहा, ‘‘जांच के बाद सत्य सामने आने तक, हॉलीवुड में कलाकारों को बदल दिया गया. यहां भी लोग उस तरह की उम्मीद कर रहे हैं. (प्रोजेक्ट से बाहर करने के अलावा) और क्या समाधान है. ’’ 

 इस मुहिम के तहत कई महिलाएं अपने ऊपर हुए अत्याचारों को लेकर ट्विटर पर मुखर होकर अपनी बातों को रख रही हैं. इस मुहिम के तहत अब तक कई क्षेत्रों के लोगों के नामों का खुलासा हुआ है जिन्होंने महिलाओं का शोषण या फिर उनके साथ बदसलूकी की थी. पहले तनुश्री दत्ता ने बेखौफ होकर नाना पाटेकर पर यौन शोषण का आरोप लगाया था उसके बाद से कई महिलाएं सामने आईं और अपनी आप बीती को ट्विटर के माध्यम से शेयर किया.

सोशल मीडिया पर इन महिलाओं को बॉलीवुड के कई लोगों का समर्थन भी मिल रहा है. कई एक्टर और एक्ट्रेस हैं जो इनका समर्थन कर रहे हैं. इन नामों में अक्षय कुमार, सोनम कपूर, स्वरा भास्कर, सोफी चौधरी, प्रियंका चौपड़ा, वरुण धवन, अनुष्का शर्मा, ट्विंकल खन्ना, फरहान अख्तर हैं जो #MeToo मुहिम का समर्थन कर रहे हैं और उन महिलाओं के साथ खड़े दिखाई दे रहे हैं जिसने खिलाफ अत्याचार हुए हैं.

DO NOT MISS