General News

इस कांग्रेस नेता ने कहा, जल्द बने राम मंदिर

Written By Dinesh Mourya | Mumbai | Published:

पिछले कई वर्षों से बीजेपी और शिवसेना के नेता राम मंदिर बनाने की मांग बड़ी आक्रामकता से उठा रहें हैं । लेकिन कांग्रेस पार्टी ने हर बार अपने आपको राम मंदिर विवाद से हमेशा अलग रखा। कांग्रेस के किसी भी नेता ने खुल कर मंदिर निर्माण का समर्थन आज तक नहीं किया। लेकिन जैसे जैसे राम मंदिर के निर्माण को लेकर आवाज़ बुलंद होती जा रही हैं, उसी के बीच कांग्रेस के एक कद्दावर नेता ने भी राम मंदिर के समर्थन में खुल कर सामने आ गए हैं। 

ये नेता हैं महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री और मुंबई कांग्रेस में उत्तर भारतीयों का चेहरा कृपा शंकर सिंह। रामलीला के एक कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए कृपा शंकर सिंह ने कहा की, “हर राम भक्त के मन में एक सवाल हैं की आखिर राम मंदिर कब बनेगा?वैसे राम मंदिर तो कई हैं इस देश में, मेरी पत्नी ने भी एक राम मंदिर घर पर बनाया हैं लेकिन जिस जगह पर राम लल्ला का जन्म हुआ वहां मंदिर कब बनेगा.. मुझे लगता हैं की, राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट मंदिर बनाये, सभी राजनीतिक दल उनका सहयोग करें और कोई भी इसे राजनीति के चश्मे से ना देखें . ”

जब रिपब्लिक टीवी ने कृपा शंकर सिंह से बात की तब उन्होने कहा की, हम धार्मिक लोग हैं मगर धर्मादा नहीं हैं। ये आस्था से जुड़ा मुद्दा हैं और राम मंदिर जल्द से जल्द बनना चाहिए। कृपा शंकर सिंह के इस बयान ने कांग्रेस में खलबली मचा दी हैं। कांग्रेस के कुछ नेताओं को कृपा शंकर का ये बयान पसंद नहीं आया हैं। कुछ अल्पसंख्यक समुदाय के नेताओं ने नाराज़गी जताते हुए कहा हैं की, कृपा शंकर को ऐसा बयान नहीं देना चाहिए था, ये पार्टी की आधिकारिक भूमिका नहीं हैं। 

ग़ौरतलब हैं की, साल 2014 में लोकसभा चुनाव में अपमान जनक हार मिलने के बाद कांग्रेस पार्टी ने एक सर्वे किया था जिसमें सामने आया था की, पार्टी की प्रो मुस्लिम पार्टी की छवि बन जाने की वजह से काफी नुकसान हुआ। और शायद यही वजह हैं की कांग्रेस पार्टी लगातार सॉफ्ट हिंदुत्व के सहारे आगे बढ़ी रही हैं। हाल के दिनों में चुनावी यात्राओं में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी को मंदिरों के चक्कर लगाते हुए देखना बड़ी आम बात हो गई हैं। इन सबके बावजूद, कांग्रेस पार्टी ने अब तक राम मंदिर के मुद्दे पर अपना भूमिका साफ नहीं की हैं। उन्होने अब तक ये नहीं बताया हैं की वो मंदिर बनाने के पक्ष में हैं या नहीं । 

अब जैसे जैसे लोकसभा चुनाव करीब आ रहें हैं वैसे वैसे संत महंतों ने मंदिर निर्माण के लिए दबाव बनाना शुरु कर दिया हैं। यहां तक की संघ ने भी बीजेपी का अल्टीमेटम दे दिया हैं तो वहीं शिवसेना ने भी चेतावनी दी हैं की या तो बीजेपी राम मंदिर बनाए आ फिर हम राम मंदिर अयोध्या में बनायेंगे । साफ हैं, राम मंदिर का मुद्दा आने वाले दिनों में कांग्रेस के लिए और परेशानी खड़ी कर सकता हैं।

 

DO NOT MISS