(Photo: PTI)
(Photo: PTI)

General News

भागवत, उद्धव के बीच अभी कोई बातचीत नहीं हुई : संजय राउत

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

शिवसेना के नेता संजय राउत ने बृहस्पतिवार को कहा कि महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर आरएसएस के सरसंघचालक मोहन भागवत और शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के बीच अब तक कोई बातचीत नहीं हुई है।

राउत ने ठाकरे की शिवसेना विधायकों के साथ बैठक से पूर्व संवाददाताओं से कहा कि उनकी पार्टी और विपक्षी कांग्रेस एवं राकांपा के विधायक ‘‘पाला नहीं बदलेंगे’’।

राज्यसभा सदस्य राउत ने कहा, ‘‘भागवत और ठाकरे के बीच अभी तक कोई बातचीत नहीं हुई है।’’ यह पूछे जाने पर कि राज्य में सरकार गठन को लेकर बने गतिरोध के बीच क्या उनके विचार पार्टी के विचारों का प्रतिनिधित्व करते हैं, उन्होंने कहा, ‘‘ मैंने शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के विचारों को सामने रखा।’’

पोर्टफोलियो के समान आवंटन और मुख्यमंत्री पद साझा करने की शिवसेना की मांग को लेकर भाजपा और शिवसेना के बीच गतिरोध बना हुआ है।

भाजपा ने ढाई-ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद साझा करने की शिवसेना की मांग खारिज कर दी है। मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल नौ नवंबर को समाप्त होगा।

दोनों दलों के सूत्रों ने बुधवार को कहा था कि दोनों दलों के बीच पीछे के दरवाजे से बातचीत चल रही है और सफलता मिलने की उम्मीद है। बता दें,  भाजपा नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल बृहस्पतिवार को राज्यपाल से मिलने वाला है जबकि राकांपा ने स्पष्ट कर दिया है कि वह विपक्ष में बैठने को प्राथमिकता देगी। भाजपा और शिवसेना, दोनों दलों के सूत्रों ने बताया कि हिन्दुत्व विचारधारा रखने वाले दोनों पुराने सहयोगी दलों के बीच अनौपचारिक बातचीत जारी है और गतिरोध जल्द समाप्त होने की उम्मीद है।

गौरतलब है कि शिवसेना ‘‘50:50 फार्मूले’’ पर जोर दे रही है और मुख्यमंत्री पद ढाई साल के लिये मांग रही है। लेकिन भाजपा इस पर राजी नहीं है। शिवसेना का दावा है कि भाजपा इस फार्मूले पर सहमत हुई थी।

महाराष्ट्र में 288 सदस्यीय विधानसभा के लिये हाल में हुए चुनाव में भाजपा 105 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है, जबकि शिवसेना 56 सीटों पर विजयी रही।

शिवसेना ने पिछले कुछ दिनों में अपने सहयोगी दल के खिलाफ कड़े तेवर दिखाए हैं, जबकि भाजपा ने देखो और इंतजार करो की नीति अपनायी। शिवसेना ने राकांपा से भी सम्पर्क साधा।

हालांकि, राकांपा प्रमुख शरद पवार ने बुधवार को कहा कि उनकी पार्टी और कांग्रेस को विपक्ष में बैठने का जनादेश मिला है। उन्होंने कहा कि राज्य में सरकार बनाने की जिम्मेदारी भाजपा-शिवसेना की है।
 

DO NOT MISS