General News

रिपब्लिक के स्टिंग पर NIA की मुहर, सच थी भारत में बगदादी के एंट्री की खबर

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

साल 2017 में आपके भरोसेमंद चैनल रिपब्लिक टीवी ने स्टिंग ऑपरेशन के जरिए देश के सामने एक हिला देने वाला सच सामने रखा था। जिस स्टिंग ऑपरेशन के बाद बहुतों ने हमारे खुलासे को झूठा करार दिया था। और हमारी आलोचना भी की थी। ले 21 महीने बाद हमारे स्टिंग ऑपरेशन पर मुहर लग गई है।

हमने जो खुलासा किया था, जांच एजेंसियां भी उसी आधार पर जांच कर रही हैं। उसका सबसे बड़ा नतीजा ये रहा कि हमारे मुल्क यानी हिन्दुस्तान का सीना एक बार फिर से छलनी होने से बच गया। आतंक का एक और बड़ा धमाका फिर इस धरती पर अंजाम नही दिया जा सका। सबसे बडी साजिश के सबसे बड़े खुलासे पर सबसे बड़ी मुहर लगी है। 

दरअसल 16 मई 2017 को रिपब्लिक टीवी का बहुत बड़ा खुलासे के जरिए भारत में ISIS  के नेटवर्क का पर्दाफाश हुआ और भारत में बगदादी के गुर्गे बेनकाब हुए थे। हमारे  स्टिंग में ये खुलासा हुआ था कि धर्म ने नाम पर अंधे हो चुके हैदराबाद के कुछ नौजवान देश को दहलाने की फिराक में थे।

इसी में  देश का एक दुश्मन अब्दुल्लाह बासित, आईएसआईएस यानी बगदादी ब्रिगेड का सबसे बड़ा गुर्गा भारत में बगदादी के नेटवर्क का सरगना था। रिपब्लिक टीवी के स्टिंग ऑपरेशन के कुछ दिनों बाद बासित और उसके कुछ साथियों को पकड़ लिया गया। फिर उन्हें सलाखों के पीछे पहंचा दिया गया।

मुख्य बातें,

  • रिपब्लिक टीवी के 2017 के स्टिंग पर लगी मुहर
  • 2017 में बगदादी के गुर्गे का किया था स्टिंग
  • स्टिंग में आरएसएस नेताओं पर हमले की बात
  • स्टिंग में राजनेताओं पर हमले का खुलासा
  • स्टिंग में भारत में ISIS की एंट्री के सबूत
  • स्टिंग में सेना पर हमले की योजना का पर्दाफाश
  • स्टिंग में ISIS और आसिया के तार जुड़ने की बात
  • कश्मीर के रास्ते सीरिया भागने की थी योजना 
  • अब्दुल्लाह बासित था ISIS का भारत में सरगना

बता दें, स्टिंग में ये भी साफ हुआ कि अब्दुल्लाह बासित ने आसिया अंद्राबी की मदद  से वाया श्रीनगर सीरिया भागने का प्लान बनाया था। फिलहाल NIA को इस मामले की जांच के लिए हमारे स्टिंग से काफी मदद मिली है। और एजेंसी ने दायर किए चार्जशीट में रिपब्लिक टीवी के स्टिंग ऑपरेशन का जिक्र किया है।

चार्जशीट की खास बातें...

पेज नंबर- 7

  • मई 2017 में रिपब्लिक टी.वी ने किया अब्दुल बासित पर स्टिंग ऑपरेशन जिसमें उसने ISIS के साथ होने की बात कबूली उसने अपने आपको बगदादी का समर्थक बताया

पेज नंबर- 7

  • रिपब्लिक टी.वी के स्टिंग ऑपरेशन के आधार पर इनके खिलाफ केस दर्ज किया गया। ये वर्तमान राजनीतिक सिस्टम से बेहद खफा थे और इससे छुटकारा चाहते थे, यही वजह थी कि ये ISIS के नजदीक होते रहे

पेज नंबर- 8

  • बासित भारत में आतंकी हमलों की साजिश रच रहा था उसने विस्फोटक बनाना यूट्यूब से सीखे.. वो बहुत बड़े हमले की साजिश रच रहा था 

पेज नंबर- 24

  • इनके खिलाफ सेक्शन 120B और IPC की धारा 201 और UA(P) ऐक्ट 1967 के सेक्शन17,18,38,39 और 40 के तहत केस दर्ज किया गया है

21 महीने बाद , बगदादी के गुर्गे फिर से जेल में बंद है। देश पर एक बड़ा हमला टल गया और हमें ये कहते हुए गर्व है कि हमने राष्ट्र के नाम पर राष्ट्र के लिए कुछ ऐसा किया जिसने जांच एजेंसियों की आंखें वक्त रहते खोल दी। 

DO NOT MISS