General News

NCP-दाउद गैंग के कथित 'बिजनेस लिंक' पर सबसे बड़ा खुलासा, देखिए एक्सक्लूसिव दस्तावेज

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव होने में कुछ ही दिन बचे हैं, लेकिन इसी बीच​​​​​​ NCP-दाउद गैंग के कथित 'बिजनेस लिंक' मामले ने राज्य की सियासत में नया भूचाल ला दिया है। रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क ने साल का सबसे बड़ा खुलासा करते हुए दाऊद के सहयोगी इकबाल मिर्ची से जुड़े लोगों के साथ एक समझौते पर एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल के कथित हस्ताक्षर वाले एक दस्तावेज को बरामद किया है।

दरअसल दस्तावेज़ में स्पष्ट रूप से 'प्रफुल्ल मनोहरभाई पटेल' का नाम और 'आसिफ इकबाल मेमन', 'हाजरा इकबाल मेमन' और 'जुनैद इकबाल मेमन' के नाम दिख रहे हैं, ये सभी दाऊद के गुर्ग इकबाल मिर्ची के करीबी माने जाते हैं। रिपब्लिक मीडिया के हाथ लगे अहम दस्तावेजों के मुताबिक प्रफुल्ल पटेल और दाऊद के सहयोगी के बीच डील होती हुई दिखाई दे रही है। यह दस्तावेज़ एनसीपी के शीर्ष नेता प्रफुल्ल पटेल और इकबाल मिर्ची के बीच मुंबई के वर्ली में मिलेनियम डेवलपर्स की सीजेय हाउस संपत्ति के हिस्से के सौदे में कथित लिंक का खुलासा करता है। यह दस्तावेज़ दाऊद इब्राहिम और शरद पवार की राकांपा के बीच 'संभावित कड़ी' का सबसे बड़ा खुलासा है। 

क्या डील पर प्रफुल्ल पटेल की हस्ताक्षर हैं? 

दस्तावेज़ में डी-कंपनी के इकबाल मिर्ची, और प्रफुल्ल पटेल के परिवार के सदस्यों के नाम हैं। इस दस्तावेज के अनुसार, NCP नेता को अपनी पत्नी के साथ सौदे में सह-मालिक नामित किया गया है। दस्तावेज के नाम - प्रफुल्ल पटेल के साथ आसिफ इकबाल मेमन, हाजरा इकबाल मेमन और जुनैद इकबाल मेमन। दस्तावेज़ में सौदे में शामिल पार्टियों के कथित हस्ताक्षर भी हैं, जिसमें खासतौर पर प्रफुल्ल पटेल के कथित 'हस्ताक्षर' भी शामिल हैं।

 

इससे पहले शनिवार को,  R.भारत ने दिखाया था कि एक्सक्लूसिव दस्तावेज के अनुसार इकबाल मिर्जी की संपत्ती में प्रफुल पटेल का भी शेयर है। दस्तावेज के अनुसार रंजीत सिंह बिंद्रा ने इस मामले में दलाली का काम किया था जबकि यूसुफ ने ट्रस्ट को पैसा ट्रांसफर करने में और डील के लिए तमाम लॉजिस्टिक्स प्रोवाइड करने में मदद की थी। 

गौरतलब है कि एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट देशभर में क्राइम सिंडिकेट चलाने वाले तमाम गिरोहों के चल-अचल संपत्तियों को लेकर लगातार कार्यवाही कर रही है। इसी संदर्भ में ईडी ने दाऊद के करीबी रहे इकबाल मिर्ची के दो गुर्गे 200 करोड़ की लैंड डील में उसकी मदद की थी जिन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है।

बता दें तीनों संपत्तियां सर मोहम्मद यूसुफ ट्रस्ट की थीं। जिसे साल 1986 में इकबाल मिर्ची की कंपनी रॉकसाइड इंटरप्राइजेज ने धौंस दिखाकर महज 6.5 लाख रुपए में खरीद ली थी।

DO NOT MISS