General News

National Approval Ratings | मौजूदा हालात रहे तो ओडिशा में BJP का बजेगा डंका

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

लोकसभा चुनाव को लेकर तमाम चर्चाएं फिजाओं में गूंज रही है. चुनाव की तारीखों का ऐलान चुनाव आयोग अमूमन मार्च के पहले हफ्ते में कर सकता है. लेकिन चुनाव से पहले रिपब्लिक भारत - सी वोटर के साथ मिलकर देश का ताजा मूड़ जानने की कोशिश की है. 

ओडिशा में रिपब्लिक टीवी और सी वोटर के National Aproval Rating के मुताबिक बीजेपी को बीजेडी के बीच कांटे की टक्कर है. लेकिन नरेंद्र मोदी को यहां 33. 2 जनता और राहुल गांधी को 26.2 जनता पीएम उम्मीदवार के तौर पर पसंद करती है. वहीं बीजेडी को 30.7 फीसदी जनता पसंद करती है. 

ओडिशा की 21 सीटों में बेजीपी को 12 सीटें और बीजेडी को 9 सीटें मिल सकती है. 

 

बता दें ओडिशा में नवीन पटनायक की बीजद सरकार 19 सालों से राज कर रही है. वहीं यहां 2019 में होने वाले लोकसभा और विधानसभा चुनाव को लेकर राज्य की सत्ताधारी बीजद ने तैयारियां शुरु कर दी है. 

इधर अटकलें हैं कि आगामी आम चुनाव के मद्देनजर इस बार पीएम मोदी उड़ीसा के पुरी से चुनाव लड़ सकते हैं. चुंकी तटीय शहर में लोकसभा चुनाव के साथ ही विधानसभा चुनाव भी होने हैं 

मकर संक्रांति के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ओड़िसा में कई योजनाओं की आधारशिला रखी तो कई को हरी झंडी दिखाई. विकास की रहा पर चलकर वोट बटोरने की तैयारी में मिशन ओड़िशा के तहत प्रधानमंत्री ने कई सौगात दी. मोदी की नजर ओडिशा पर क्योंकि यहां अबतक बीजेपी का जनाधार कम रहा है. पिछले तीन हफ्ते में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का तीसरा ओडिशा दौरा था.


इधर कटक जिला के बांकी में भारतीय जनता पार्टी की तरफ से 'जवाब मांग रहा है ओडिशा' कार्यक्रम चालया गया था जिसमें केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेद्र प्रधान भी शामिल हुए. प्रधान ने कहा कि नवीन सरकार के शासन में ओडिशा में अराजकता ओर भ्रष्टाचार लगातार बढ़ रहा है. कंधमाल ,ढेंकनाल , केंद्रपाड़ा और कलाहांडी जिला में नाबालिग बच्चियों के गर्भवती होने की बार - बार खबरें सामने आ रही है. राज्य में महिलाओं के प्रति अत्याचार चरम पर है. अब समय आ गया है कि जनता इसका जवाब मांगे. शासक दल के गुंडे, विधायक व मंत्री बड़ी-बड़ी इमारतें बना रहे हैं और आम जनता त्रस्त हैं .

DO NOT MISS