pc - twitter
pc - twitter

General News

केन्द्र एवं झारखंड की पूर्ण बहुमत की सरकारों के चलते झारखंड में तेजी से विकास हुआ-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

हजारीबाग- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को यहां देश और राज्य की जनता को धन्यवाद देते हुए कहा कि केन्द्र एवं झारखंड दोनों जगह पूर्ण बहुमत की मजबूत सरकार चुने जाने से समस्त देश के साथ झारखंड में तेजी से विकास कार्य हुए हैं और इसका सबसे बड़ा उदाहरण है कि जिस झारखंड में आजादी के 67 वर्ष बाद तक सिर्फ तीन मेडिकल कालेज थे वहां आज एक ही दिन में तीन मेडिकल कालेजों के भवनों को उद्घाटन किया जा रहा है।

प्रधानमंत्री के रूप में नरेन्द्र मोदी ने रविवार को झारखंड की अपनी 12वीं यात्रा में हजारीबाग से 3306 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से निर्मित तीन मेडिकल कालेजों, एवं रामगढ़ महिला इंजीनियरिंग कालेज के नवनिर्मित भवनों का उद्घाटन करने और पांच सौ बिस्तरों के चार अस्पतालों की आधारशिला रखने तथा अनेक पेयजल परियोजनाओं का एवं नमामि गंगे के तहत साहिबगंज के एक घाट का उद्घाटन करने के बाद अपने संबोधन में यह बात कही।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज यहां हजारीबाग के गांधी मैदान से आन लाइन इन परियोजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास करने के बाद कहा कि उनकी सरकार गरीबों, दलितों, वंचितों तथा समाज के कमजोर वर्गों के लिए पूरी तरह समर्पित है।

उन्होंने देश और राज्य की जनता को धन्यवाद देते हुए कहा, ‘‘देश एवं राज्य में जनता ने पिछले चुनावों में जिस प्रकार पूर्ण बहुमत की सरकारें चुनीं उससे विकास कार्य तेजी से किये जा सके हैं। आप के इस आशीर्वाद ने हमें दिन रात दौड़ने की प्रेरणा दी। हमें आपके इस प्यार से दिनरात दौड़ने, परिश्रम करने और अधिक से अधिक काम करने की प्रेरणा मिलती है।’’ 

उन्होंने कहा कि झारखंड में स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के लिए केन्द्र और राज्य सरकारों ने मिलकर तेजी से काम किया है और देवघर में एम्स के निर्माण के साथ आज जिस प्रकार एक ही दिन में तीन मेडिकल कालेजों के भवनों का उद्घाटन किया गया है उससे यहां न सिर्फ लोगों को स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर मिलेंगी बल्कि एमबीबीएस की तीन सौ सीटें भी एक साथ बढ़ गयी हैं।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘दोनों जगहों पर मजबूत सरकार का लाभ देखिये कि झारखंड में आजादी के बाद पहले 67 वर्षों में जहां सिर्फ तीन मेडिकल कालेज थे वहीं अब एक दिन में तीन मेडिकल कालेज खोले जा रहे हैं।’’ 

प्रधानमंत्री ने स्वच्छता के क्षेत्र में झारखंड के काम की भूरि भूरि प्रशंसा की और कहा कि जहां चार वर्ष पूर्व इस राज्य में सिर्फ 20 प्रतिशत जनता को शौचालय की सुविधा प्राप्त थी वहीं सिर्फ चार वर्षों में राज्य सरकार ने पूरे राज्य को खुले में शौच से मुक्त करने में सफलता हासिल की है। इसके लिए राज्य के मुख्यमंत्री और उनकी पूरी टीम तथा राज्य के अधिकारी बधाई के पात्र हैं।

मोदी ने कहा कि इस राज्य में चार वर्षों में ही 33 लाख से अधिक शौचालय बनाये गये हैं जिनमें हजारीबाग में सबसे अधिक शौचालयों का काम हुआ है।

उन्होंने आयुष्मान भारत योजना का उल्लेख करते हुए कहा कि विश्व की इस सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना का तो शुभारंभ ही झारखंड से हुआ। मोदी ने कहा कि देश में विकास की तमाम योजनाओं पर केन्द्र सरकार तेजी से काम कर रही है। इसी के तहत समस्त देश में 350 पेयजलापूर्ति योजनाओं पर कार्य किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि जिस प्रकार आज झारखंड सरकार ने राज्य के 27 लाख किसानों को स्मार्ट फोन देने की योजना प्रारंभ की है उससे वह सरकार की योजनाओं से सीधे जुड़ सकेंगे और मौसम और फसलों के बारे में बेहतर जानकारी हासिल कर सकेंगे।

प्रधानमंत्री ने रामगढ़ में राज्य के पहले और देश के तीसरे महिला इंजीनियरिंग कालेज के भवन का उद्घाटन करते हुए कहा कि इस कालेज से भविष्य में अनेक और प्रतिभाएं निकलेंगी। उन्होंने हाल में गणतंत्र दिवस समारोह में हजारीबाग की बेटी शिखा सुरभि द्वारा बाइक की अदभुत कला के प्रदर्शन का यहां उल्लेख किया।

मोदी ने कहा कि झारखंड सरकार ने अपने यहां आदिवासी समाज की शिक्षा के लिए दो दर्जन एकलव्य विद्यालयों की स्थापना कर ली है और सत्तर अन्य ऐसे विद्यालय खुलने की राह पर हैं।

उन्होंने आज सरकारी स्कूलों के लिए प्रारंभ की गयी कान्हा दुग्ध परियोजना की भी प्रशंसा की और कहा कि इससे झारखंड के बच्चे और स्वस्थ और सुपोषित होंगे।

उन्होंने कहा कि देश के किसानों की आर्थिक स्थिति मजबूत करने के लिए उनकी सरकार जो ‘प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना’ लेकर आयी है उससे देश के बारह करोड़ से अधिक किसान अगले दस वर्षों में लाभान्वित होंगे।

उन्होंने कहा, ‘‘केन्द्र सरकार की इस नयी योजना से अगले दस वर्ष में 12 करोड़ से अधिक किसान लाभान्वित होंगे और उनके खातों में सीधे साढ़े सात लाख करोड़ रुपये सरकार की ओर से भेजे जायेंगे।’’ उन्होंने कहा कि इस योजना से झारखंड के भी 22 लाख से अधिक किसान परिवार लाभान्वित होंगे। 
 

DO NOT MISS