General News

केंद्र सरकार प्रतिशोध की राजनीति छोड़ अर्थव्यवस्था को गंभीर सुस्ती से उबारने का प्रयास करे: मनमोहन सिंह

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर के घटकर पांच प्रतिशत पर आने के बीच पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि वह बदले की राजनीति करने के बजाय सुधी लोगों के सुझावों पर ध्यान दे और अर्थव्यवस्था को गंभीर सुस्ती से उबारने का प्रयास करे।

पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि आर्थिक हालात गंभीर रूप से चिंताजनक हैं और पहली तिमाही में 5 फीसदी की जीडीपी वृद्धि दर दर्शाती है कि हम लंबे समय तक बने रहने वाली आर्थिक नरमी के दौर में हैं।

सिंह ने कहा,‘‘मैं सरकार से अपील करता हूं कि वह प्रतिशोध की राजनीत को त्याग कर मानव निर्मित संकट से अर्थव्यवस्था को निकालने के लिए सुधी जनों की आवाज सुने।’’ 

यह भी पढ़ें - असहिष्णुता और हिंसा की घटनाओं से राजनीतिक व्यवस्था को नुकसान पहुंच सकता है: मनमोहन सिंह

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की नीतियों के परिणामस्वरूप व्यापक पैमाने पर रोजगार विहीन विकास हो रहा है। भारतीय अर्थव्यवस्था में तेजी से बढ़ने की क्षमता है लेकिन मोदी सरकार के कुप्रबंधन से हम आर्थिक सुस्ती के दौर से गुजर रहे हैं।

इससे पहले मनमोहन सिंह ने मॉब लिचिंग की घटनाओ पर चिंता जताते हुए कहा था कि देश में असहिष्णुता और भीड़ द्वारा हिंसा की बढ़ती घटनाओं के चलन से देश की राजनीतिक व्यवस्था को नुकसान पहुंच सकता है । पिछले कुछ वर्षों में हमारा देश कुछ चिंताजनक चलन का सामना कर रहा है । यह बढ़ती असिहष्णुता, सांप्रदायिक ध्रुवीकरण, कुछ समूहों द्वारा पैदा की गई घृणा तथा भीड़ द्वारा कानून अपने हाथ में लेने से जुड़ी हिंसा की बढ़ती घटनाएं हैं ।

यह भी पढ़ें - पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की SPG सुरक्षा हटने से भड़की कांग्रेस, कहा- 'प्रधानमंत्री और गृहमंत्री याद रखें'

इससे हमारी राजनीतिक व्यवस्था को नुकसान हो सकता है।’’ देश की एकता और अखंडता तथा धार्मिक सौहार्द से जुड़े पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के एक कथन का उल्लेख करते हुए सिंह ने कहा, ‘‘हमें राजीव गांधी द्वारा दिखाए रास्ते पर चलना है । ’’ 

यह भी पढ़ें - पूर्व PM मनमोहन सिंह की हटाई गई SPG सुरक्षा, अब सीआरपीएफ देगी ‘जेड प्लस’ सुरक्षा

DO NOT MISS