General News

महबूबा मुफ्ती ने दिग्विजय सिंह के एयर स्ट्राइक के सबूत मांगने का किया समर्थन

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

देश विरोधी समर्थकों का समर्थन करते हुए पीपल्स डेमोक्रैटिक पार्टी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने एयर स्ट्राइक के सबूत मांगे। सेना के शौर्य पर सवाल खड़े करते हुए महबूबा मुफ्ती ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के बयान का समर्थन किया, जिसमें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने केंद्र सरकार से पाक सीमा में भारत के हवाई हमले के सबूत देने के लिए कहा है।


जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट कर बालाकोट पर हवाई हमले की सत्यता पर सवाल उठाने वालों का समर्थन किया है। 


सेना के शौर्य पर शक करने वाली महबूबा मुफ्ती ने सर्जिकल स्ट्राइक की तरह एयर स्ट्राइक की सत्यता पर भी सवाल उठाए।  महबूबा मुफ्ती का यह पाक प्रेम कोई पहली बार नहीं है इससे पहले भी कई बार महबूबा का पाक प्रेम सामने आ चुका है। 

बता दें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने शनिवार को कहा कि , मैं पाकिस्तान के आंतकी कैम्पों पर भारतीय वायुसेना के हमले पर सवाल खड़े नहीं कर रहा । हम तकनीकी दौर में रह रहे हैं। खुले में की गई किसी कार्रवाई की तस्वीरें सैटेलाइट टेक्नोलॉजी से मिल सकती हैं। लिहाजा सरकार को सबूत देना चाहिए । अमेरिकी सरकार ने लादेन को मारने का सबूत दुनिया के सामने पेश किया था। 

इसपर पटना के गांधी मैदान से पीएम मोदी ने कहा ''अपनी देश की सेना आतंक को कुचलने में जुटी है ऐसे समय में भी देश के भीतर ही कुछ लोग सेना के हौसले को बुलंद करने की बजाए ऐसी बातें कर रहे हैं जिससे दुश्मनों के चेहरे खिल रहे हैं, पाकिस्तान में टीवी पर उनके चेहरे दिख रहे हैं और तालियां बज रही हैं'', पीएम मोदी ने आगे कहा, ''आतंक के खिलाफ जब हम काम कर रहे थे तो 21 पार्टियां निंदा प्रस्ताव लाने में जुटी थी.. ऐसे लोगों को देश कभी भी माफ नहीं करेगा। कुछ दलों के नेता हमारे जवानों के पराक्रम पर सवाल खड़े कर रहे हैं।

एयरस्ट्राइक का सबूत मांगने वालो से नरेंद्र मोदी ने कहा 'कांग्रेस और उनके सगयोगियों से जानना चाहता हूं कि वो क्यों हमारे जवानों का मनोबाल तोड़ने में लगे हैं। वे क्यों ऐसे बयान दे रहे हैं जिससे दूसरे देश में तालियां बज रही है। नया देश नई नीति और रीति के साथ आगे बढ़ रहा है.. भारत अब जवानों की शहादत का चुन-चुन कर हिसाब लेता है।

DO NOT MISS