General News

सिद्धू के बाजवा से गले मिलने पर शहीद औरंगजेब के पिता बोले, ''एक तरफ हमारे बच्चों की खून की नदियां बह रही है..''

Written By Gaurav Kumar | Mumbai | Published:

हाल ही में कांग्रेस पार्टी के नेता और पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में पाकिस्तान गए थे. अपनी यात्रा के दौरान उन्होंने पाक आर्मी जनरल बाजवा को गले लगाया था. जिसके बाद से ही भारत में सिद्धू की काफी आलोचना हो रही है. बीजेपी ही नहीं यहां तक की उनकी पार्टी के वरिष्ठ नेता और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी साफ लहजों में सिद्धू के गले लगने पर कहा था कि उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए था. 

वहीं अब इस पूरे मामले पर शहीद जवान औरंगजेब के पिता ने रिपब्लिक टीवी से बात करते हुए कहा है कि, ''मैं दो तीन बाते कहना चाहूंगा भारत की सरकार से.. पहली बात तो, जो हमारे कांग्रेस के सिद्धू साहब पाकिस्तान के आर्मी जनरल बाजवा से मिले मिलने की मुबारक हो, लेकिन एक बात मैं कहता हूं कि एक साइड में हमारे देश में हमारे बच्चों की खून की नदियां बह रही है दूसरी साइड से वो गले लगाना ये अच्छी बात है की पाकिस्तान में इमरान खान वजीर-ए-आजम बने हैं.. मैं चाहता हूं कि अगर आप मिले हो तो वो भी हमसे मिले.'' 

 इसके साथ ही उन्होंने कहा, ''हमारे मोदी जी ने जो कदम उठाए हैं देश के लिए बहुत बड़ा कदम उन्होंने देश के लिए उठाया .. तो उस बात को कुचलने के लिए आपने सरकार की .. मैं नहीं चाहता की हमारे देश में ऐसा कोई खून खराबा इसके बाद हो अगर सिद्धू साहब मिले हैं तो ये  पूरे हिंदुस्तान सरकार की जिम्मेदारी उनकी होगी.''  

वहीं लेफ्टिनेंट जनरल पीएन हून ने रिपब्लिक टीवी से बात करते हुए कहा है कि नवजोत सिंह सिद्धू भारत को कैसे रिप्रजेंट कर सकते हैं.. उन्हें किसी ने वहां जाने का ऑर्डर नहीं दिया था.. 

इसके साथ ही उन्होंने कहा, ''हम लोग बच्चे नहीं हैं हम लोगों को पता है कि क्या हुआ है और क्या होने वाला है .. हम लोगों को एक साथ रहना है.. कई समस्या हैं जैसे कश्मीर का मुद्दा.. एवं अन्य मुद्दे .. कश्मीर के लोग भी हमारे साथ हैं.. उनको मना किया गया फिर भी वो गए .. मैं ये नहीं कर रहा हूं उन्हें नहीं जाना चाहिए था .. राजनाथ सिंह भी थे ..सब लोग थे.. अगर ये लोग उन्हें भेजते तो बात दूसरी होती. ऐसे तो कल हर कोई जाने लगेगा ..''

DO NOT MISS