General News

बजट पेश होने से पहले ही कांग्रेस ने उठाया सवाल, मनीष तिवारी ने किया 'बजट लीक' होने का दावा!

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

वित्त मंत्री पीयूष गोयल के अंतरिम बजट पेश करने से पहले ही कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने बजट लीक होने का दावा किया है। ऐसे में ये सरकार की योग्यता और नीजिता पर सीधे तौर पर सवालिए निशान से कम नहीं है।

कुछ देर पहले ही पूर्व केंद्रीय मंत्री ने ट्वीट करके ये दावा किया और सवाल उठाया कि बजट लीक को गया है। उन्होंने ट्विटर पर कुछ तस्वीरें पोस्ट करते हुए ये सवाल खड़ा किया है।

ट्वीट में मनीष तिवारी ने लिखा, ''ये संकेत सरकार के सूत्रों द्वारा मीडिया लोगों को प्रसारित किए जा रहे हैं। यदि बजट में इन प्रस्तावों की सभी या मूल राशि में प्रतिबिंब पाया जाता है, तो क्या यह एक BUDGET LEAK नहीं हुआ होगा?''

उन्होंने जो तस्वीरें पोस्ट की है उनमें आगामी बजट से संबंधित कुछ बिंदुओं पर कयास लगाते हुए ये जाहिर किया गया है कि बजट में क्या-क्या हो सकता है। जिसके बाद कांग्रेस पार्टी के तिवारी ने उन कयासों का हवाला देते हुए बजट पर सरकार की कार्यशैली को ही कटघरे में खड़ा कर दिया।''

इसके बाद मनीष तिवारी ने ये भी कहा कि आगर बजट में वही चीजें सामने आती है जो पहले ही कुछ चीजें सामने आ गया, अब देखना है कि ये वही होगा.. अगर ऐसा होता है तो बहुत गलत होगा।

ट्वीट पढ़ें - 

मनीष तिवारी ने जो तस्वीरें शेयर किया है उसमें कुछ 11 बिंदु शामिल हैं, जो कुछ इस प्रकार से है...

  1. इनकम टैक्स छूट की सीमा को 4 लाख से लेकर 5 लाख रुपए तक करने का हो सकता है ऐलान।
  2. होमलोन के ब्याज पर मिलने वाले टैक्स छूट की सीमा को 2 लाख रुप से बढ़ाकर 2.50 लाख रुपए किए जाने के आसार
  3. स्टैंडर्ड डिडक्शन की मौजूदा सीमा को 40,000 रुपए से बढ़ाकर 50,000 रुपए किया जा सकता है।
  4. समय पर लोन चुकाने वाले किसानों को सरकार 2 लाख तक लोन ब्याज मुक्त कर्ज देने का ऐलान कर सकती है।
  5. प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में किसानों द्वारा दिया जाने वाले प्रीमीयम के हिस्से का भुगतान भी सरकार खुद देने का ऐलान कर सकती है।
  6. पहली बार सरकार यूनिवर्सल बेसिक इनकम स्कीम को लागू करने को लेकर रोडमैप का ऐलान कर सकती है।
  7. स्टार्टअप पर लगने वाले एंजेल टैक्स को खत्म किया जा सकता है। 
  8. आयुष्मान भारत योजना के लिए नीत गुना बढ़ सकता है आवंटन। मौजूदा वित्तीय वर्ष में केवल 2400 करोड़ रुपए मिले थे। 2019-20 के लिए 7400 करोड़ रुपए आयुष्मान भारत को मिल है। इस योजना में केंद्र सरकार 60 फीसदी और राज्य सरकार 40 फीसदी योगदान देती है।
  9. फिलहाल केवल गरीबों को मिलता है आयुष्मान भारत की सुविधा। कुछ रकम देकर इस योजना का फायदा सभी को (यूनिवर्सल) देने का बजट में हो सकता है ऐलान। योजना के तहत 5 लाख रुपए कर सरकार इलाज के लिए देती है।
  10.  हेल्थ सेक्टर को बजट में मिल सकता है 53000 करोड़ रुपए। 10000 नए वेलनेस सेंटर खोलने का हो सकता है ऐलान। बीते साल 15000 खोलने का हुआ था ऐलान।
  11. मनरेगा के लिए 60000 करोड़ रुपए देने का हो सकता है ऐलान, बीते साल मिले थे 55000 करोड़ रुपए।

इसे भी पढ़ें - Budget 2019 : मोदी सरकार के आखिरी बजट से होगीं ये पांच उम्मीदें

बता दें, अरुण जेटली फिलहाल अमेरिका में हैं। उनकी जगह गोयल वित्त मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार संभाल रहे हैं। उन्हें पिछले हफ्ते यह जिम्मेदारी दी गई थी। 

DO NOT MISS