General News

तबरेज अंसारी मामले में कानून अपना काम करेगा: केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

झारखंड में तबरेज अंसारी लिंचिंग (भीड़ हत्या) मामले के आरोपियों के खिलाफ हत्या का आरोप हटाए जाने पर उपजे विवाद को लेकर केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी ने बृहस्पतिवार को कहा कि कानून अपना काम करेगा।

उन्होंने इस घटना को ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ बताते हुए कहा कि यह एक आपराधिक कृत्य है। उन्होंने एक कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से कहा, ‘‘ मुझे नहीं पता कि अदालत में क्या हुआ। मैं जानता हूं कि जो कुछ भी हुआ, जो भी आपराधिक गतिविधि हुई, दोषियों को सजा जरूर मिलनी चाहिए।’’

रेड्डी ने कहा कि वह राज्य सरकार से इस मामले पर बात करेंगे। केंद्रीय मंत्री से जब इस मामले के 13 आरोपियों पर से हत्या का मामला हटाकर गैर इरादतन हत्या करने के संबंध में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि कानून अपना काम करेगा।

केंद्रीय मंत्री ने इस आरोप को खारिज कर दिया कि भीड़ द्वारा पीट-पीटकर मारने की घटनाएं भाजपा शासित राज्यों में हो रही है। उन्होंने कहा, ‘‘ इस तरह की घटनाएं पश्चिम बंगाल में हुई। इस तरह की कई घटनाएं पहले भी हो चुकी है, सभी घटनाएं भाजपा शासित राज्य में नहीं हुई हैं।’’

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक यह कह चुके हैं कि इस तरह की घटनाएं कहीं नहीं होनी चाहिए।

सरायकेला-खरसावां में 17 जून को एक भीड़ ने 24 वर्षीय अंसारी की बेरहमी से पिटाई की थी। 13 लोगों को उसकी हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। इस घटना का वीडियो भी वायरल हुआ था जिसमें अंसारी खंभे से बंधे हुए दिख रहे थे और भीड़ उन्हें ‘जय श्री राम’ बोलने को मजबूर कर रही थी।


मंगलवार को पुलिस ने अंसारी लिंचिंग मामले से जुड़े सभी 13 आरोपियों पर से हत्या का आरोप हटा लिया। इस मामले को लेकर सरायकेला-खरसावां के एसपी कार्तिक एस ने कहा कि हमने दो कारणों से आईपीसी की धारा 304 के तहत आरोप पत्र दायर किया। पहली वजह यह है कि वह (तबरेज अंसारी) मौके पर नहीं मरा। ग्रामीणों का अंसारी को मारने का कोई इरादा नहीं था। 

बता दें बीती जून माह में झारखंड के सराईकेला में चोरी के आरोपी युवक तबरेज अंसारी की भीड़ ने बुरी तरह पिटाई कर दी थी। बाद में इलाज के दौरान अस्पताल में उसकी मौत हो गई थी। मॉब लिंचिंग के इस मामले ने तब देश - दुनिया में खासा तूल पकड़ा था। कहा गया था कि तबरेज अंसारी को घंटो पीटा गया और उसे जबरन ''जय श्रीराम'' के नारे लगवाए गए।

( इनपुट-भाषा से भी)

DO NOT MISS