General News

पोंजी घोटाला: कर्नाटक के पूर्व मंत्री जनार्दन रेड्डी का वीडियो आया सामने, कहा- 'मैं भागा नहीं हूं'

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

कर्नाटक में ऐम्बिडेंट कंपनी के फर्जीवाड़े मामले में एक बड़ा अपडेट सामने आया है. रिपब्लिक टीवी को एक्सक्लूसिव वीडियो मिला है. इस वीडियो में कर्नाटक के पूर्व मंत्री और चर्चित खनन कारोबारी जनार्दन रेड्डी ने अपने ऊपर लगे तमाम आरोपों पर सफाई दी है. अज्ञात जगह से जारी हुए इस वीडियो में जनार्दन रेड्डी अपना दर्द बयां करते नज़र आ रहे हैं. 

इस वीडियो में जनार्दन रेड्डी ने बोला कि पिछले 15-20 दिनों से मेरे घर का माहौल बेहद खराब हो गया है. हर कोई परेशानी से जूझ रहा है. 

'मैं भागा नहीं हूं'

वीडियो में रेड्डी ने अपने भागने की ख़बर को खारिज करते हुए बोला कि ''मैं भागा नहीं हूं. मैं बैंगलुरू में हूं. पुलिस के पास मेरे भागने के कोई दस्तावेज नहीं हैं. वो मीडिया को गलत जानकारी दे रहे हैं. मैं काफी दिनों से यहीं बैंगलुरू में हूं. मैं कहीं नहीं गया हूं''.

इस दौरान रेड्डी ने कहा कि मुझ पर कुछ निराधार आरोप लगाए गए हैं. जिसे लेकर मैं जल्द ही सीसीबी कार्यालय जाऊंगा. साथ ही रेड्डी ने इस मसले पर अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि सीसीबी के इस रवैये से मैं काफी निराश हूं. वहीं क्राइम ब्रांच पहुंचकर रेड्डी ने अपने ऊपर लगे तमाम आरोपों को खारिज किया.

बता दें, हाल ही में आई ख़बर के मुताबिक कर्नाटक में ऐम्बिडेंट कंपनी के फर्जीवाड़े मामले में जनार्दन रेड्डी का कनेक्शन सामने आया था. पुलिस कमिश्नर ने बताया था कि मामले में उनसे पूछताछ की जाएगी. 

बेंगलुरु के पुलिस कमिश्नर टी सुनील कुमार ने मीडिया को बताया था, '2016-17 में ऐम्बिडेंट कंपनी बनाई गई थी. निवेशकों को कंपनी ने हर महीने 40 प्रतिशत पैसा वापस करने का भरोसा दिलाया था. जब कंपनी पैसा लौटाने में नाकाम रही तो कुछ केस दर्ज कराए गए थे. जनवरी 2017 में ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) ने कंपनी पर छापेमारी कर प्रासंगिक दस्तावेजों को जब्त कर लिया था. बता दें, हाल ही में क्राइम ब्रांच ने इस केस को अपने हाथ में लिया था.

इस दौरान पुलिस कमिश्नर ने ये भी बताया था कि 18 करोड़ का ट्रांजेक्शन हुआ था. बाद में ऐम्बिडेंट कंपनी ने यह पैसा अंबिका ज्वेलर्स के रमेश कोठारी को ट्रांसफर कर दिया था. जब रमेश कोठारी से इस मसले पर पूछताछ हुई तो उसने बताया कि बेल्लारी के एक ज्वैलर रमेश को उसने 57 किलो सोना दे दिया था. 

पुलिस कमिश्नर ने इस मामले में जनार्दन रेड्डी का जिक्र करते हुए कहा कि 'जब बेल्लारी के रमेश से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि 57 किलो सोना जनार्दन रेड्डी के पीए अली को दे दिया था'. पुलिस कमिश्नर ने बताया था कि जनार्दन रेड्डी फिलहाल फरार है. हालांकि रेड्डी ने वीडियो में पुलिस के इन आरोपों को खारिज कर दिया है. पोंजी घोटाला में करीब 500 करोड़ रुपये के गबन की बात कही जा रही है.

DO NOT MISS