General News

जम्मू के बस स्टैंड पर ग्रेनेड फेंकने वाला आतंकी यासिर जावेद भट्ट गिरफ्तार, हमले के पीछे हिजबुल का हाथ

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

जम्मू पुलिस ने बस स्टैंड पर गुरुवार दोपहर में ग्रेनेड फेंकने वाले आतंकी यासिर जावेद भट्ट को गिरफ्तार कर लिया है। IGP जम्मू-कश्मिर मनीष ने सिन्हा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसकी जानकारी दी। उन्हेंने कहा जम्मू बस स्टैंड में ग्रेनेड फेकने वाला यासिर भट्ट को गिरफ्तार कर लिया गया है। आतंकी यासिर कुलगाम में हिजबुल मुजाहिदीन के जिला कमांडर है।  यासिर को आतंकी सरगना फारूक अहमद भट्ट उर्फ उमर ने जम्मू बस स्टैंड में ग्रेनेड फेंकने का काम सौंपा था।

जम्मू बस स्टैंड में लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगालते हुए जम्मू- कश्मिर पुलिस आतंकी यासिर तक पहुंची। वहीं गवाहों की मौखिक गवाही के आधार पर यासिर भट्ट की पहचान की। यासिर भट्ट ने अपना गुनाह कबुल कर लिया है। उसे जम्मू से बाहर भागते वक्त गिरफ्तार किया गया। 

बता दें  जम्मू शहर के बीचों-बीच स्थित भीड़-भाड़ वाले बस स्टैंड पर बृहस्पतिवार को हथगोले से किए गए जबर्दस्त धमाके में कम से कम 32 लोग घायल हो गए। जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है । उन्में से एक घायल की मौत हो गई है। जानकारी के मुताबिक धमाके में उत्तराखंड के मोहम्मद शारिक की जान चली गई। 

पिछले साल मई से लेकर अब तक बस स्टैंड इलाके में आतंकवादियों की तरफ से हथगोले के जरिए किया गया यह तीसरा हमला है। 

जम्मू के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) एम के सिन्हा ने बताया कि विस्फोट के बाद बी सी रोड के आसपास के इलाके की घेराबंदी कर दी गई और हथगोला फेंकने वाले को पकड़ने के लिए बड़े स्तर पर तलाश अभियान चलाया जा रहा है। 

तत्काल मौके पर पहुंचे एवं स्थिति का जायजा लेने वाले सिन्हा ने कहा कि प्रारंभिक जांच से लगता है कि किसी ने हथगोला फेंका है। 

घटना में घायल हुए 32  लोगों को गवनर्मेंट मेडिकल कॉलेज (जीएमसी) अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि विस्फोट में बस स्टैंड पर खड़ी सरकारी बस के आगे के शीशे टूट गए। साथ ही उन्होंने बताया कि घायलों में से कईयों की हालत ‘गंभीर’ है।

DO NOT MISS