pc - twitter / @adgpi
pc - twitter / @adgpi

General News

जम्मू कश्मीर : अनंतनाग में प्रदर्शनकारियों ने पत्थर मार के ली सेना के जवान की जान

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में पत्थरबाज अपनी नापाक हरकत करने से बाज नहीं आए रहे हैं. गुरुवार को कुछ पत्थरबाजों द्वारा सेना के काफ़िला पर हमला किया. प्रदर्शन कर रहे पत्थरबाजों ने सैनिकों को निशाना बनाकर पत्थर फेंके. पथराव में सिर पर गहरी चोट लगने से घायल हुए 22 साल के सेना के एक जवान की मौत हो गई. सेना के एक प्रवक्ता ने इसकी जानकारी दी है.

जानकारी के अनुसार , जवान राजेंद्र सिंह सीमा सड़क संगठन के काफिले को सुरक्षा प्रदान करने वाले क्यूआरटी दल में शामिल थे. शाम करीब 6 बजे जब काफ़िला एनएच 33 के पास से गुजर रहा था तो प्रदर्शनकारियों ने अनंतनाग बाइपास के पास गुजर रहे सेना के काफिले में पथराव किया. इस दौरान काफिले में मौजूद 22 साल के सेना जवान राजेंद्र सिंह के सिर पर चोट लगा. चोट इतनी गहरी थी कि खून निकलना रूक नहीं रहा था. 

जवान को आनन फानन में प्राथमिक चिकित्सा प्रदान की गई और उन्हें 92 बेस अस्पताल पहुंचाया गया. जहां जवान राजेंद्र सिंह ने दम तोड़ दिया. जम्मू - कश्मीर पुलिस का कहना है कि इस मामले में सेना ने अभी तक कोई एफआईआर नहीं दर्ज कराई है. 

सेना के प्रवक्ता ने बताया कि जवान राजेंद्र सिंह मूल रूप से उत्तराखंड के पिथोरागढ़ के गांव बेदना के रहने वाले थे . उन्होंने 2016 में आर्मी ज्वॉइन की थी. 


शहिद जवान राजेंद्र सिंह के परिवार में उनके माता - पिता हैं. सेना ने शुक्रवार को उन्हें और दो अन्य जवानों लांस नायक ब्रजेश कुमार , सिपाही एनगमसियामलियाना को श्रद्धांजलि दी . दोनों जवान कश्मीर घाटी में अगल - अलग आतंकवाद - निरोध अभियानों में शहीद हो गए थे. 

यह भी पढ़े  -  नक्सलियों के सिर पर काल बनकर मंडराने वाले CRPF जवान रामदास भाऊ ने कहा - पैर गया है हौसला नहीं.. आ रहा हूं मैदान में

अधिकारी ने कहा , ' बदामीबाग छावनी इलाके में एक समारोह में सेना के सभी अधिकारियों ने गौरवान्वित देश की ओर से शहीदों को श्रद्धांजलि दी. इसके बाद देर शाम उनका शव परिवार को सौंप दिया गया हैं.

यह भी  पढ़े - नेशनल कॉन्फ्रेंस और PDP को जम्मू कश्मीर निकाय चुनाव का बहिष्कार नहीं करना चाहिए था: सत्यपाल मलिक

DO NOT MISS