General News

गुजरात हिंसा: क्षेत्रवाद की राजनीति पर समाज को आइना दिखाता उद्योगपति आनंद महिंद्रा का ये ट्वीट...

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

पिछले दिनों गुजरात में एक 14 साल की बच्ची से रेप का मामला सामने आने के बाद राज्य में रह रहे गैर- गुजरातियों पर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा. इसका सबसे ज्यादा असर यूपी- बिहार के लोगों पड़ा, जिनको असामाजिक तत्वों ने निशाना बनाया, जिसके कारण से हजारों लोगों को रातों- रात विस्थपित होना पड़ा.  इसी बीच क्षेत्रवाद की राजनीति पर उघोगपति आनंद महिंद्रा ने करारा  वार करते हुए कुछ वाजिब सवाल उठाएं है.

सोशल मीडिया से कई मौकों और मुद्दों पर बात रखने वाले आनंद महिंद्रा ने मंगलवार को गुजरात बनाम गैर गुजराती मुद्दे पर ट्वीट करते हुए कहा कि भारत के लिए सबसे बड़ा खतरा हमारा आंतरिक विभाजन है. हम अंग्रेजों पर बांटने का आरोप लगाते हैं. आज हम खुद ही दोषी हैं. हम इसके लिए राजनेताओं को दोषी नहीं ठहरा सकते. हर किसी को अपनी राज्य निष्ठा से ऊपर उठना पड़ता है और नहीं तो हम एक राष्ट्र नहीं बनेगें. लेकिन केवल द्वीपों का संग्रह रह जाएंगे. 

गौरतलब है कि गुजरात के साबरकांठा में 14 महीने की बच्ची के साथ हुए रेप के बाद से ही उत्तर भारतीय लोगों, खासतौर पर बिहार और उत्तर प्रदेश के लोगों को निशाना बनाया जा रहा है. बता दें, आरोप लगा है कि 14 महीने की बच्ची के साथ बिहार के एक शख्स ने रेप किया है. उसके बाद से ही गुजरात में उत्तर भारतीय लोगों को पीटने की घटनाएं सामने आ रही हैं.  

यहीं वजह है कि गुजरात के कई जिलों से उत्तर भारतीय लोगों के पलायन की खबर सामने आई है. इस मामले में ठाकोर सेना पर गुंडागर्दी करने का आरोप लगा है. ठाकोर सेना के अध्यक्ष कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकोर हैं. ठाकोर सेना घर-घर जाकर लोगों को अपने-अपने राज्य वापस चले जाने के लिए कह रहे हैं. वहीं कई वीडियो भी सामने आए हैं जिसमें इन लोगों को बदसलूकी करते हुए देखा जा सकता है.

DO NOT MISS