General News

भारत ने जिन्ना हाऊस पर पाकिस्तान के दावे को किया खारिज

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

भारत ने मुंबई में जिन्ना हाऊस के स्वामित्व पर पाकिस्तान के दावे को आज दृढता से खारिज कर दिया और कहा कि यह संपत्ति उसकी है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कई जानकारी दी.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, ‘‘जहां तक इस संपत्ति की बात है तो पाकिस्तान का कोई पक्ष ही नहीं बनता है। यह भारत सरकार की संपत्ति है और हम उसके सौंदर्यीकरण में जुटे हैं.’’

मुंबई के मालाबार हिल में स्थित इस बंगले का डिजायन वास्तुशिल्प क्लाउड बाटली ने यूरोपीय शैली में तैयार किया था और उसमें पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना 1930 के दशक के उत्तरार्द्ध तक रहे थे. इस बंगले का मुंह समुद्र की ओर है. पाकिस्तान मांग करता रहा है कि ये संपत्ति उसके मुम्बई वाणिज्य दूतावास के लिए उसे दे दी जाए.

रवीश कुमार ने कहा कि सरकार जिन्ना हाऊस को यहां के हैदराबाद हाऊस की तर्ज पर उपयोग में लाने पर विचार कर रही है. सरकार हैदराबाद हाऊस का इस्तेमाल विदेशों के विशिष्ट मेहमानों के साथ बैठक करने और उनकी मेजबानी के लिए करती है.

इसे भी पढ़ें - पाकिस्तान के ऑनलाइन ठगी गिरोह के लिए करते थे काम... 6 आरोपी गिरफ्तार

बता दें, इससे पहले पाकिस्तान ने कहा था कि जिन्ना हाउस उसका है और भारत द्वारा उसे अपने नियंत्रण में लेने की किसी भी कोशिश को स्वीकार नहीं किया जाएगा. कुछ दिन पहले विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा था कि उनका मंत्रालय इस बंगले को अपने नाम कराने की प्रक्रिया में जुटा है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैजल ने इस्लामाबाद में संवाददाताओं से कहा, ‘‘उस (जिन्ना हाउस) पर हमारा दावा है और हमें ये स्वीकार्य नहीं है कि कोई उसका स्वामित्व अपने हाथों में ले. वे (भारतीय) पहले ही मान चुके हैं कि ये पाकिस्तान का है. हमारे पास इसका रिकार्ड है. वे (भारतीय) मान चुके हैं कि यह पाकिस्तान का है.’’

(इनपुट : भाषा)

इसे भी पढ़ें - पाकिस्तान पर बरसें उमर अब्दुल्ला, कहा- 'PM मोदी ने रिश्ते सुधारने के लिए काफी कोशिश की'

DO NOT MISS