General News

अंतरिक्ष की महाशक्ति बना भारत: पीएम मोदी बोले- 'मिशन शक्ति' ऑपरेशन सफल, लो अर्थ ऑर्बिट में सैटेलाइट को मार गिराया

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

भारत ने अंतरिक्ष में एंटी मिसाइल से एक लाइव सैटेलाइट को मार गिराते हुए आज अपना नाम अंतरिक्ष महाशक्ति के तौर पर दर्ज करा दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सुबह राष्ट्र के नाम संदेश में कहा ,‘‘मिशन शक्ति के तहत स्वदेशी एंटी सैटेलाइट मिसाइल ‘ए..सैट’ से तीन मिनट में एक लाइव सैटेलाइट को मार गिराया गया।’

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत अंतरिक्ष में निचली कक्षा में लाइव सैटेलाइट को मार गिराने की क्षमता रखने वाला चौथा देश बन गया है। अब तक यह क्षमता केवल अमेरिका, रूस और चीन के ही पास थी।

मोदी ने कहा कि हमने जो नई क्षमता हासिल की है, यह किसी के खिलाफ नहीं है बल्कि तेज गति से बढ़ रहे हिन्दुस्तान की रक्षात्मक पहल है । उन्होंने वैज्ञानिकों को इस उपलब्धि के लिए बधाई दी।

उन्होंने कहा कि इससे किसी अंतरराष्ट्रीय कानून या संधि का उल्लंघन नहीं हुआ है । भारत हमेशा से अंतरिक्ष में हथियारों की होड़ के विरूद्ध रहा है और इससे :उपग्रह मार गिराने से: देश की इस नीति में कोई परिवर्तन नहीं आया है।

यह भी पढ़ें - 'मिशन शक्ति' की सफलता के बाद अंतरिक्ष में बजा भारत का डंका, अमित शाह बोले- भारत के लिए ये गर्व की बात

प्रधानमंत्री ने कहा कि शांति एवं सुरक्षा का माहौल बनाने के लिए एक मजबूत भारत का निर्माण जरूरी है और हमारा उद्देश्य शांति का माहौल बनाना है, न कि युद्ध का माहौल बनाना।

क्या है ASAT-  

  • एंटी सैटेलाइट हथियार
  • सैटेलाइट को मारने में माहिर 
  • चीन,रूस,अमेरिका के पास 
  • भारत एलीट समूह में 
  • पृथ्वी की निचली कक्षा में इस्तेमाल 
  • 300 किलो का सेटेलाइट गिराया 
  •  ​​​​​​ऑपरेशन 'मिशन शक्ति' 
  • लाइव सैटेलाइट को मारने में सक्षम

कैसे काम करता है ASAT 

  • कक्षा की दूरी 800 km 
  • 2007 से ASAT का विकास 
  • PSLV-GSLV से लॉन्च संभव 
  • निचली कक्षा में PSLV कारगर
  • ऊपरी कक्षा के लिए GSLV जरूरी 
  • दुश्मन की सैटेलाइट को नष्ट करता है
  • सैटेलाइट होने पर टुकड़े गिरते हैं
  • 2-3 हज़ार तक टुकड़े गिर सकते हैं

 

DO NOT MISS