General News

महिला सुरक्षा पर केंद्र की बड़ी पहल: गृहमंत्री राजनाथ सिंह आज लांच करेंगे महिलाओं के लिए देशव्यापी हेल्पलाइन No. 112

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

गृह मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि 16 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश मंगलवार को एकल आपातकालीन हेल्पलाइन नंबर ‘112’ से जुड़ेंगे जिस पर तत्काल सहायता के लिये मदद मांगी जा सकेगी।

गृह मंत्री राजनाथ सिंह मंगलवार को यहां महिला सुरक्षा से जुड़ी विभिन्न पहलों का उद्घाटन करेंगे।

इनमें 16 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में इमरजेंसी रिस्पॉन्स सपोर्ट सिस्टम (ईआरएसएस) को शुरू करना, इन्वेस्टिगेशन ट्रैकिंग सिस्टम फॉर सेक्सुअल ऑफेंसेज (आईटीएसएसओ) और सुरक्षित शहर कार्यान्वयन निगरानी पोर्टल भी शामिल हैं।

खुद गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट करके महिलाओं के सुरक्षा के प्रति प्रतिबद्धता जताई. 

गृह मंत्रालय के बयान के मुताबिक जिन 16 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में यह प्रणाली शुरू की जा रही हैं उनमें आंध्रप्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, केरल, मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु, गुजरात, पुडुचेरी, लक्षद्वीप, अंडमान, दादर नगर हवेली, दमन और दीव, जम्मू कश्मीर शामिल हैं।

ईआरएसएस पुलिस (100), अग्निशमन (101), स्वास्थ्य (108) और महिला (1090) हेल्पलाइन नंबर का एकल नंबर ‘112’ के तौर पर एकीकृत रूप है।

सबसे बड़ी बात यह है कि महिलाओं के खिलाफ अपराध की जांच की आनलाइन मॉनिटरिंग और दो महीने के भीतर उसकी जांच पूरी करने के लिए एक इंवेस्टीगेशन ट्रैकिंग सिस्टम भी विकसित किया गया है। गृहमंत्री राजनाथ सिंह मंगलवार को 16 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में एक साथ इसका उद्घाटन करेंगे।

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि आपातकालीन सेवाओं तक पहुंच के लिए कोई शख्स फोन से 112 डायल कर सकता है या आपातकालीन प्रतिक्रिया केंद्र (ईआरसी) पर पैनिक काल के लिये अपने स्मार्ट फोन के पावर बटन को दबा सकता है। अगर समान्य फोन है तो ‘5’ या ‘9’ नंबर को कुछ देर के लिये दबा कर आपात संदेश दिया जा सकता है।

अधिकारी ने कहा कि अमेरिका के ‘911’ की तरह विभिन्न आपातकालीन सेवाओं के लिए एकल नंबर को धीरे-धीरे पूरे देश में लागू किया जाएगा।

(इनपुट- भाषा)

DO NOT MISS