General News

Chandrayaan-2 के लॉन्च पर ट्वीट की वजह से ट्रोल हुए हरभजन सिंह ने कहा - ''उसमें कुछ धार्मिक नहीं है''

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:


सोमवार को चंद्रयान-2 के सफल लॉन्च पर पूर्व क्रिकेटर हरभजन सिंह ने इसरो को अनोखे अंदाज में बधाई दी। ऐसा माना जा रहा है कि भज्जी ने इस ट्वीट के सहारे पाकिस्तान पर तंज कसा। अब हरभजन सिंह को इस ट्वीट की वजह से ट्रोल किया जा रहा है। 

दरअसल , हरभजन सिंह ने इसरो को बधाई देते हुए लिखा कि कुछ देशों के झंड़ो पर चांद है तो दूसरी तरफ कुछ देश चांद पर अपना झंडा फहरा रहे हैं। भज्जी ने इसके साथ 9 देशों की तरफ इशारा किया जिनके झंडों पर चांद बना हुआ है। इनमें पाकिस्तान समेत अल्जीरिया, तुर्की, मालदीव, मॉरिटानिया, ट्यूनीशिया, लीबिया, क्रोएशिया और अजरबैजान शामिल है। दूसरी लाइन में अमेरिका, रूस, भारत और चीन शामिल है।

इसपर हरभजन सिंह ने कहा कि  'मैं अपने देश, संस्कृति और सभी धर्मों का सम्मान करता हूं। मुझे लगता है कि वे सुंदर हैं।


वहीं जब उन्हें ट्रोल किए जाने को लेकर  सवाल किया गया कि आलोचना करने वाले आपके ट्वीट पर सांप्रदियक होने का आरोप लगा रहा हैं।  तो इसपर हरभजन ने कहा कि उन्हें इस बारे में कोई फर्क नहीं पड़ता की वे उनके बारे में क्या सोचते है। चंद्रयान -2 के सफल लॉन्च पर एक भारतीय होने के नाते गौरवान्वित हूं।

बता दें इस ट्वीट के बाद ट्वीटर पर कई लोगों ने भज्जी के ट्वीट को सराहा तो । कई यूजर्स  ने भज्जी के इस ट्वीट को 'इस्लामोफोबिया की सोच' से ग्रासित बताया ।

वहीं  सीपीएम (एमएल) पोलित ब्यूरो की सदस्य कविता कृष्णन ने  नेपाल के झंडे का फोटो लगाते हुए लिखा, नेपाल के ध्वज पर भी चांद है लेकिन आपने सिर्फ मुस्लिम देशों के ध्वज लगाकर आपने गलत उदाहरण पेश किया है। काश आप श्रीलंकाई क्रिकेटरों से सीख लेते और ऊपर उठते। 

एक यूजर ने लिखा, आपको शर्म आनी चाहिए। आपके ट्वीट से भारतीयों की छवि खराब होती है। आप सच्चे खिलाड़ी नहीं हो, आप एक साम्प्रदायिक इंसान हो। बीसीसीआई को आपके खिलाफ एक्शन लेना चाहिए। इस शख्स के ट्वीट को शेहला राशिद ने ट्वीट भी किया।

एक फैन ने लिखा, आप घृणा मत फैलाइए। यह नया भारत है। इसरो ने भी चंद्रयान-2 को सिर्फ भारत नहीं बल्कि मानव जाति की बेहतरी के लिए लॉन्च किया है।

बता दें आंध प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से सोमवार दोपहर दो बजकर 43 मिनट पर इसरो के 'बाहुबली' रॉकेट ने चंद्रयान-2 को लेकर उड़ान भरी। पहले यह प्रक्षेपण 15 जुलाई की सुबह दो बजकर 51 मिनट पर प्रस्तावित था, लेकिन प्रक्षेपण से घंटेभर पहले रॉकेट में गड़बड़ी के कारण अभियान को रोकना पड़ा था। 

जानकारी के अनुसार अलग-अलग चरणों में सफर पूरा करने के बाद चंद्रयान-2 सात सितंबर को चांद के दक्षिणी ध्रुव की निर्धारित जगह पर उतरेगा। अब तक विश्व के केवल तीन देशों अमेरिका, रूस व चीन ने चांद पर अपना यान उतारा है।

DO NOT MISS