General News

PAK में सिख लड़की के जबरन धर्मपरिवर्तन पर फूटा हरभजन का गुस्सा, 'खुद भगवान बनने की कोशिश ना करो'

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

भारत को मानवाधिकार की दुहाई देने वाले कायर पाकिस्तान में खुद क्या हो रहा है, पाकिस्तान के हुक्मरानों को नजर नहीं आ रहा है। पाक पीएम इमरान खान को ये नजर नहीं आ रहा है। कश्मीरी मुसलमानों का मिमायती होने का दावा करने वाले इमरान खान के खुद के घर में अल्पसंख्यकों की क्या हालत है।

नरक से भी बदतर जिंदगी जीने को मजबूर हैं पाकिस्तान के अल्पसंख्यक ये है पाकिस्तान के ननकाना साहिब में गुरुग्रंथी का परिवार इनकी बेटी को कट्टपपंथियों ने घर से अगवाकर जबरन धर्म परिवर्तन करा दिया। पीड़िता के भाई ने वीडियो जारी कर आरोपियों पर बंदूक की नोक पर पीड़िता को धर्म बदले के लिए मजबूर कर दिया।

मामला सामने आने के बाद पाकिस्तान, भारत समेत दुनिया भर के सिख संगठनों ने कड़े लफ्जों में निंदा की है और पाकिस्तान सरकार ने आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। इसी कड़ी में पूर्व भारतीय क्रिकेटर हरभजन सिंह ने कहा कि किसी को धर्म परिवर्तन करने के लिए मजबूर नहीं करना चाहिए।

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि यह सब कुछ यहीं रुकना चाहिए। हमें इस तरफ नहीं जाना चाहिए। हर कोई धर्म सुंदर है, किसी को भी किसी में भी धर्मांतरित करने के लिए मजबूर नहीं करना चाहिए। भगवान केवल एक है, भगवान केवल यह तय करते हैं कि हम किस धर्म में पैदा हुए हैं। हम खुद भगवान बनने की कोशिश नहीं करेंगे।  इस पर कठोर कार्रवाई की जानी चाहिए।

यह भी पढ़ें - PAK का काला चेहरा फिर आया सामने, सिख लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन करवाया निकाह

इसके साथ ही पूर्व क्रिकेटर ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमारान खान और भारतीय विदेश मंत्री ए जयशंकर को टैग करते हुए इस मामले में कड़ी कार्रवाई की मांग की। 

वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कड़ा विरोध जताते हुए लिखा हैरान करने वाली घटना है कि एक सिख लड़की को जबरन अगवा कर इस्लाम धर्म कबूल करवाया गया. इमरान खान जल्द से जल्द दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें। विदेश मंत्री जयशंकर से आग्रह करता हूं कि वो पाकिस्तान में अपने समकक्ष से प्रमुखता से इस मुद्दे को उठाएं।

अल्पसंख्यकों पर अत्याचार का ये कोई पहला मामला नहीं है। सिंध प्रांत में होली से एक दिन पहले 2 नाबालिग हिंदू बहनों का अपहरण कर लिया गया। जबरदस्ती धर्म परिवर्तन कराकर उनकी शादी कराई गई दोनों नाबालिग लड़कियों ने पंजाब की एक कोर्ट से सुरक्षा की गुहार लगाई।  वहीं हाल ही में यूएन ने भी पाकिस्तान को अल्पसंख्यकों को लेकर जबरदस्त फटकार लगाई थी और सभी धर्मों का सम्मान करने की बात कही थी।

DO NOT MISS