General News

अल्पेश ठाकोर ने निर्दोष होने का दावा किया, यूपी और बिहार के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखा

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

गुजरात में हिंदी भाषी प्रवासियों पर हमले को लेकर आलोचनाओं से घिरे कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकोर ने मंगलवार को बिहार और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखा एवं दावा किया कि वह या उनका संगठन हिंसा में शामिल नहीं है जिसकी वजह से लोग जा रहे हैं.

गुजरात की सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ठाकोर और उनके संगठन गुजरात क्षत्रिय-ठाकोर सेना को हिंसा के लिए जिम्मेदार ठहरा रही है. इन हमलों के सिलसिले में दर्ज कुछ प्राथमिकियों में भी इस संगठन का नाम है . चौदह महीने की एक बच्ची के साथ कथित रूप से बलात्कार करने को लेकर 28 सितंबर को बिहार के एक मजदूर की गिरफ्तारी के बाद हिंसा भड़क गयी थी.  बच्ची ठाकोर समुदाय से है. 

अल्पेश ठाकोर ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को चिट्ठी लिखी है और दोनों ही चिट्ठियों का मजमून एक ही है.  गुजराज से जाने वाले ज्यादातर प्रवासी इन्हीं दोनों राज्यों से हैं. 

कांग्रेस विधायक ने कहा कि वह केवल बलात्कार पीड़िता के लिए इंसाफ मांग रहे थे लेकिन कुछ लोगों ने इसे राजनीतक रंग दे दिया. उन्होंने दावा किया कि उत्तर प्रदेश और बिहार के लोग अफवाहों पर आंख बंद कर विश्वास कर रहे हैं और गुजरात से जा रहे हैं, तथा हमले सुनियोजित साजिश हैं.

यह भी पढ़ - बच्ची से रेप मामला: ठाकोर सेना की धमकी के बाद गुजरात छोड़ने को मजबूर हुए यूपी-बिहार के लोग

दरअसल अल्पेश ठाकोर का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा रहा है, जिसमें दूसरे राज्यों के लोगों के लिए भड़काऊ भाषा का प्रयोग कर रहे हैं. लेकिन अब वीडियो के बयान से पूरी तरह पलट गए . सफाई देते हुए कहा है कि उन्होंने कभी भी उत्तर भारतीयों को खदड़ने को लेकर कोई बयान नहीं दिया.

अल्पेश का कहना है कि उन्होंने रोजगार की बात आक्रामक तरीके से की हो लेकिन उन्हें गलत बताया जा रहा है. उन्होंने ये भी कहा कि वो राहुल गांधी के सिपाही हैं और मारने , काटने की राजनीति नहीं करते हैं. इधर जेडीयू ने राहुल गांधी को चिट्ठी लिखकर अल्पेश ठाकोर पर कार्रवाई करने की मांग की है.  

( इनपुट- भाषा से भी )
 

DO NOT MISS