PC - PTI
PC - PTI

General News

पुलवामा हमले के बाद भारत का बड़ा कदम, पाकिस्तान को जाने वाला पानी रोकाने का फैसला किया

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

नयी दिल्ली - सरकार ने पाकिस्तान की ओर जाने वाले ‘हमारे हिस्से के पानी’ को रोकने और पूर्वी नदियों की धारा जम्मू कश्मीर और पंजाब की ओर मोड़ने का फैसला किया । केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने यह जानकारी दी।

यह निर्णय ऐसे समय में आया है जब कुछ ही दिन पहले पुलवामा में आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे । 

गडकरी ने ट्वीट किया, ‘‘ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हमारी सरकार ने पाकिस्तान की ओर जाने वाले ‘हमारे हिस्से के पानी’ को रोकने का निर्णय किया है । हम पूर्वी नदियों की धारा का मार्ग परिवर्तित करेंगे और जम्मू कश्मीर और पंजाब में अपने लोगों को पहुंचायेंगे । ’’ 

सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि रावी, व्यास और सतलुज नदियों से पाकिस्तान जाने वाले जल को जम्मू-कश्मीर और पंजाब की ओर मोड़ा जाएगा । 

गडकरी ने कहा कि रावी नदी पर शाहपुर..कांडी बांध का निर्माण शुरू हो गया है। इसके अलावा यूजेएच परियोजना के जरिये जम्मू कश्मीर में उपयोग के लिये हमारे हिस्से के पानी का भंडारण होगा और शेष पानी दूसरी रावी व्यास लिंक के जरिये अन्य राज्यों के बेसिन में प्रवाहित होगा ।

बता दें केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी ने गुरुवार को ऐलान किया कि तीनों नदियों पर बने प्रॉजेक्ट्स की मदद से पाक को दिए जा रहे पानी को अब पंजाब और जम्मू-कश्मीर की नदियों में प्रवाहित किया जाएगा। 

यह भी पढ़े- भारत की सख्ती के बाद दुनिया को दिखाने के लिए पाकिस्तान ने हाफिज सईद के आतंकी संगठन जमात-उद-दावा पर लगाया बैन

उन्होंने आगे कहा कि इसके लिए जम्मू-कश्मीर के शाहपुर-कांडी में रावी नदी पर एक प्रॉजेक्ट के निर्माण कार्य की शुरुआत हो चुकी है। इसके अलावा उझ प्रोजेक्ट की मदद से जम्मू-कश्मीर में रावी नदी का पानी स्टोर किया जाएगा और इस डैम का सरप्लस पानी अन्य बेसिन राज्यों में प्रवाहित किया जाएगा। 

केंद्र सरकार ने यह फैसला ऐसा वक्त में लिया है जब पुलवामा हमले के बाद देश के लोग भारत सरकार से पाकिस्तान को सबक सिखाने की मांग कर रहे हैं ।

यह भी पढ़े - पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर ने कहा, विश्व कप में पाकिस्तान से नहीं खेलकर भारत को नुकसान होगा

DO NOT MISS