General News

धारा 370 पर मोदी सरकार का कदम राष्ट्र की अखंडता की दिशा में एक ऐतिहासिक फैसला: जेटली

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

पूर्व वित्त मंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेता अरूण जेटली ने कहा है कि जम्मू कश्मीर के संबंध में अनुच्छेद 370 पर सरकार का कदम राष्ट्र की अखंडता की दिशा में एक ऐतिहासिक फैसला है। जेटली ने अपने ब्लॉग में कहा कि अलग दर्जा होने से अलगाववाद को बढ़ावा मिलता है। कोई देश ऐसे हालात को जारी रखने की अनुमति नहीं दे सकता।

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की प्रशंसा करते हुए कहा, "आज एक ऐतिहासिक गलती को ठीक करने का काम हुआ है। अनुच्छेद 35ए, भारत के संविधान के अनुच्छेद 368 के तहत प्रक्रिया का पालन किए बिना पिछले दरवाजे से आया है। इसे जाना ही था।" 

उन्होंने कहा, "सरकार के फैसले से जम्मू-कश्मीर के लोगों को सबसे ज्यादा मदद मिलेगी। अधिक निवेश, अधिक उद्योग, अधिक निजी शैक्षणिक संस्थान, अधिक नौकरियां और अधिक राजस्व आयेगा।" उन्होंने कहा कि अब कश्मीर के क्षेत्रीय नेताओं को लगेगा कि वे ‘जज्बात बनाम फायदे’’ के नकली मुद्दे को उठा नहीं पायेंगे।

बता दें, वहीं भाजपा नेता राम माधव ने जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 पर लिए सरकार के निर्णय का समर्थन करते हुए सोमवार को कहा कि आखिरकार भारत में राज्य के पूर्ण विलय की डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की इच्छाओं का ‘‘सम्मान’’ हुआ। पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं राज्य में पार्टी के प्रमुख नेता ने कहा कि देश जम्मू-कश्मीर के पूर्ण विलय की लंबे समय से मांग कर रहा था।

गृह मंत्री अमित शाह के संसद में इसकी घोषणा करने के बाद राम माधव ने ट्वीट किया, ‘‘क्या गौरवशाली दिन है। आखिरकार डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी समेत हजारों शहीदों की भारत में जम्मू-कश्मीर के पूर्ण विलय की इच्छा का सम्मान हुआ और पूरे देश की सात दशक पुरानी मांग हमारी आंखों के सामने पूरी हुई। क्या कभी ऐसा सोचा था?’’ 

DO NOT MISS