General News

GST काउंसिल की 31वीं बैठक के बाद जानिए क्या हुआ सस्ता

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षा में गुड एंड सर्विस टैक्स काउंसिल की 31 वीं बैठक में कई अहम फैसले लिए गए. इस बैठक में आम लोगों को राहत देते हुए टीवी स्क्रीन , सिनेमा के टिकट और पावर बैंक समेत कई प्रकार की 23  वस्तुओं पर जीएसटी की दरों पर कमी की घोषणा की .

बता दें जीएसटी परिषद की बैठक में कुछ वस्तुओं के जीएसटी के स्लैब में भी बदलाव हो सकते हैं, इसका संकेत खुद पीएम मोदी रिपब्लिक समिट से देते हुए कहा था कि गुड एंड सर्विस टैक्स ( जीएसटी) को और ज्यादा सरल बनाए जाएंगे. बता दें नई दरें 1 जनवरी 2019 से लागू होगी.

इन चीजों पर जीएसटी घटकर 5 % हुआ

  • सोलर पावर आईटम
  • व्हीलचेयर 
  • तीर्थयात्रियों के लिए हवाई टिकट

इन चीजों पर जीएसटी घटकर 12 % हुआ. 

  • 100 रुपए तक की सिनेमा टिकट पर
  • वाहनों के लिए जाने वाली थर्ड पार्टी इंश्योरेंस
  • तीर्थयात्रियों के लिए बिजनेस क्लास हवाई टिकट पर 

इन चीजों पर जीएसटी घटकर 18 % हुआ

  • 100 रुपये से मंहगे सिनेमा टिकट पर .
  • वीडियो गेम्स और खेल आइटम पर
  • एसी  
  • डिशवासर
  • गियर बॉक्स 
  • मॉनिटर 
  • 32 इंच तक के टीवी 
     

जीएसटी परिषद की 31वीं बैठक के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इन फैसलों की घोषणा की. उन्होंने कहा कि विभिन्न प्रकार की वस्तुओं पर जीएसटी दरें कम करने से सालाना राजस्व में 5,500 करोड़ रुपये का असर पड़ेगा. परिषद ने जीएसटी की 28 प्रतिशत की सर्वोच्च कर के दायरे में आने वाली वस्तुओं में से सात को निम्न दर वाले स्लैब में डाल दिया है. इसके साथ ही 28 प्रतिशत के स्लैब में अब केवल 28 वस्तुएं बची हैं. जेटली ने कहा, ‘‘जीएसटी की दरों को तर्कसंगत बनाना एक सतत प्रक्रिया है.'' उन्होंने कहा, “28 प्रतिशत की दर का धीरे-धीरे पटाक्षेप हो जाएगा... अगला लक्ष्य परिस्थिति अनुकूल होने के साथ सीमेंट पर जीएसटी में कमी करना है.”

बता दें जीएसटी में बदलाव के संकेत देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रिपब्लिक समिट के मंच से कहा था कि, ''आज जीएसटी व्यवस्था काफी हद तक स्थापित हो चुकी है और हम उस दिशा में काम कर रहे हैं जहां 99 फीसदी चीजें जीएसटी के 18 फीसदी कर स्लैब में आयें. '' उन्होंने समिट में  इशारो में कहा था कि जीएसटी का 28 फिसदी कर स्लैब केवल लक्जरी उत्पादनों जैसी चुनिंदा वस्तुओं के लिए होगा. मोदी ने कहा कि हमारा प्रयास यह सुनिश्चित होगा कि आम आदमी के उपयोग वाली  सभी वस्तुओं समेत 99 फीसदी उत्पादों को जीएसटी के 18 फीसदी या इससे कम कर स्लैब में रखा जाये.

DO NOT MISS