General News

आतंकवाद के रास्ते पर गए बेटे से मां की भावुक अपील, "मुझे ज़हर दे कर मार डालो, फिर आतंक के रास्ते पर जाओ"

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

दक्षिण कश्मीर के कुलगाम से एक और माँ की दर्द भरी फ़रियाद सुनाई दी है. कुलगाम के बुमब्रेथ के रहने वाले शोएब मोहमद लोन की माँ की यह अपील सामने आयी है. 22 साल का शोएब दस दिन पहले घर से कॉलेज के लिए निकला था, लेकिन वापस नहीं लौटा सका. आठ दिन बाद खबर आयी भी तो सोशल मीडिया के ज़रिये कि वो आतंक के रास्ते पर चला गया है. बीटेक के दूसरे साल में पढ़ने वाला शोएब अन्य भटके युवाओं की तरह आतंकी संगठन हिज़्ब में शामिल हो गया और उसकी यह फोटो 20 सितम्बर को सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी.

शोएब बीटेक का छात्र है. शोएब के पिता अरशद हुसैन लोन भी हिज़्ब का कमांडर था और 1995 में एक एनकाउंटर में मारा गया था. शोएब अपनी माँ  का इक्लौता सहारा है.

शोएब की माँ अपने बेटे से एक ही बात कह रही है  - मुझे ज़हर दे कर मार डालो और फिर आतंक के रस्ते पर जाओ.

शोएब की माँ ने अपील करते हुए कहा कि मैं अपील करती हूँ - मैं शोएब की माँ हूँ - मेरा अल्लाह के अलावा कोई नहीं है. ऊपर  ख़ुद्दा है नीचे में हूँ - में मेहरबानी ,मेंहराबनि करके अपील करती हूँ कि अगर आपके साथ किसी भी तंज़ीम के साथ है. घर वापस बेज दो ! उसके इलावा मेरा कोई नहीं है! में ने म्हणत मज़दूरी करके उससे पाला है. मैंने सोंचा था मेरा सहारा है क्यूंकि उसके सिवा मेरा कोई नहीं  है! ना मेरा माइका है और ना ही मेरा घर है - मेहरबानी करके जिस तंज़ीम के साथ भी वह है - उसको पांच दस दिन तक घर भेज दो. वह नादान है उस से गलती हुई है. वह वापस लौट. अगर वह वापस नहीं आया तो में ज़हर खाकर मर जाऊंगी. फिर उसको जो अच्छा लगे वह कर ले.

इससे पहले एक ओर बीटेक का छात्र दक्षिण कश्मीर के पुपुलवामा जिले के अराबल गांव के निवासी खुर्शीद अहमद मलिक भी आतंकवाद के रास्ते पर चला गया था. लेकिन कुछ दिनों बाद सुरक्षाबलों के हाथों मारा गया था. बता दें,उसने जम्मू क्षेत्र के कटरा जिले में श्री माता वैष्णो देवी विश्वविद्यालय (एसएमवीडीयू) से बी टेक पूरा किया था. 

DO NOT MISS