General News

कुलभूषण केस: पाकिस्तान के 'बड़ी जीत' के दावे पर गिरिराज सिंह ने ली चुटकी, किया मजेदार कमेंट

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत (आईसीजे) ने बुधवार को व्यवस्था दी कि पाकिस्तान को भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को सुनाई गयी फांसी की सजा पर प्रभावी तरीके से फिर से विचार करना चाहिए और राजनयिक पहुंच प्रदान करनी चाहिए। इसे भारत के लिए बड़ी जीत माना जा रहा है। 

लेकिन पाकिस्तान है कि इतनी बार मुंह की खाने के बाद सुधारने का नाम नहीं ले रहा है। वो फैसले को तोड़मरोड़ कर जाधव मामले में अपनी बड़ी जीत बता रहा है।   पाकिस्तान ने लिखा कि ICJ ने जाधव को रिहा करने की भारत की मांग ठुकरा दी है, जिसपर  बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने पड़ोसी देश की जमकर खिचाई की। 

दरअसल जाधव मामले में प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह पाकिस्तान की बड़ी जीत है। कुलभूषण जाधव की रिहाई और प्रत्यावर्तन की भारत की मांग को ICJ ने 'खारिज' कर दिया। लेकिन गिरिराज सिंह बिना देर करते हुए पाकिस्तान की दुखती रग को पकड़ते हुए उसे ही ट्रोल कर दिया। उन्होंने केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यहां पाकिस्तान की गलती नहीं है, क्योंकि ICJ का फैसला अंग्रेजी में था।

ICJ का फैसला 

अदालत के अध्यक्ष जज अब्दुलकावी अहमद यूसुफ की अगुवाई वाली 16 सदस्यीय पीठ ने कुलभूषण सुधीर जाधव को दोषी ठहराये जाने और उन्हें सुनाई गयी सजा की ‘‘प्रभावी समीक्षा करने और उस पर पुनर्विचार करने’’ का आदेश दिया।

पीठ ने कहा कि उसने पाकिस्तान को यह सुनिश्चित करने के लिए हरसंभव कदम उठाने का निर्देश दिया था कि मामले में अंतिम फैसला तब तक नहीं आता, तब तक जाधव को सजा नहीं दी जाए। पीठ ने कहा कि वह मानती है कि सजा पर लगातार रोक जाधव की सजा की प्रभावी समीक्षा के लिए अपरिहार्य स्थिति है।

पीठ ने एक के मुकाबले 15 वोटों से यह व्यवस्था भी दी कि पाकिस्तान ने जाधव की गिरफ्तारी के बाद राजनयिक संपर्क के भारत के अधिकार का उल्लंघन किया।

DO NOT MISS