General News

उड्डयन घोटाले : दूसरे दिन ईडी के समक्ष पेश हुए प्रफुल्ल पटेल, नौ घंटे तक हुई पूछताछ

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

ईडी ने एनसीपी नेता और पूर्व उड्डयन मंत्री प्रफुल्ल पटेल की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। ई़डी ने उन्हें पूछताछ के लिए 6 जून के बुलाया है और उन्हें यूं ही मिलने नहीं बुलाया गया। दरअसल नागरिक विमानन घोटाले से जुड़ी जांच के दौरान प्रवर्तन निदेशालय के मिले कॉरपोरेट दलाल दीपक तलवार के कुछ संदिग्ध ईमेल। इन ईमेल्स के जरिए पता चला कि दीपक तलवार के कई मंत्रियों और मंत्रालयों को अधिकारियों के साथ गहरे संबंध रहे हैं।

विमानन घोटाले में उसके तार प्रफुल्ल पटेल से कैसे जुड़ते हैं। ये भी इन ईमेल्स के जरिए पता चला है। इन ईमेल्स में दीपक तलवार और कांग्रेस सरकार के दौरान डील के सबूत हैं। इन ईमेल्स में कॉरपोरेट दलाल दीपक तलावर, निजी विमानन कंपनियों और उस वक्त की यूपीए सरकार के मंत्री प्रफुल्ल पटेल के बीच डील कराता दिखता है।

ईमेल्स में क्या है?

  • कॉरपोरेट दलाल दीपक की बातचीत
  • दीपक और प्रफुल्ल पटेल का संबंध
  • निजी कंपनियों-सरकार की डील की बातचीत
  • संवेदनशील सरकारी जानकारी का इस्तेमाल
  • नेताओं,अधिकारियों की जानकारी दिया जाना

दीपक तलवार की पहुंच इतनी ऊपर तक थी कि निजी विमान कंपनियां उससे बातचीज करके सरकार से डील कराने की बात करती थीं। इन ईमेल्स ने कुछ ऐसी जानकारियां देने का जिक्र है। जिसको काफी संवेदनशील माना जाता है। संवेदनशील जानकारियों तक दीपक की पहुंच ये बताती है कि उसके प्रफुल्ल पटेल और उनके अधिकारियों से काफी गहरी सांठ-गांठ थी। आपको जानकार हैरानी होगी कि एयर इंडिया के घाटे का एक बड़ा कारण उसके फायदेमंद रूट्स को निजी कंपनियों को दिया जाना है।

क्या है घोटाला ?

  • मामला एयरलाइंस रूट आवंटन से जुड़ा है
  • निजी एयरलाइंस को एयर इंडिया के रूट बांटे गए
  • इसके एवज में करोड़ों रुपये की रिश्वत दी गई
  • दीपक तलवार ने विदेशी खातों में पैसे जमा किए
  • 2008-09 में निजी एयरलाइंस को ट्रैफिक राइट्स दिए गए
  • डील के लिए दीपक को 272 करोड़ रुपये मिले

प्रफुल्ल पटेल को ED ने समन जारी किया है, दीपक तलवार मामले में ईडी ने नोटिस भेजा है, ईडी ने प्रफुल्ल पटेल को 6 जून को पेशी का आदेश दिया है । आरोप है कि प्रफुल्ल के संपर्क में तलवार था । घोटाले में विदेशी कंपनी की मदद का आरोप है जिससे एअर इंडिया को नुकसान हुआ था

मनमोहन सिंह की सरकार के दौरान करोड़ों रुपये के विमानन घोटाले का आरोप पूर्व नागरिक उड्डयन मंत्री और एनसापी के नेता प्रफुल्ल पटेल पर लगा है।  इस मामले में उन्हे 6 जून को ईडी के सामने पेश होना है।

इस घोटाले की चार्जशीट में प्रफुल्ल पटेल का नाम शामिल है। दुबई से पकड़कर भारत लाए गए बिचौलिये दीपक तलवार से पटेल के रिश्ते रहे हैं।

ईडी ने अपनी चार्जशीट में लिखा है कि-

  • तलवार पटेल के संपर्क में थे
  • तलवार पटेल के नाम पर डील करते थे
  • दीपक और पटेल के बीच ई-मेल पर बात
  • तलवार ने निजी एयरलाइंस को फायदा पहुंचाया

ED के आरोप

  • एयर इंडिया-इंडियन एयरलाइंस का विलय किया
  • बोइंग से 111 विमानों को 70 हजार करोड़ में खरीदा
  • फायदेमंद रूट निजी एयरलाइंस को दे दिए

मनमोहन की सरकार फिर एक बार सवालों में है।  उनके मंत्री फिर शिकंजे में है। एनसीपी ने प्रफुल्ल पटेल का बचाव करते हुए उनके जरिए लिए गए फैसले ED के निशाने पर हैं। यानी मोनमोहन सरकार के दौरान का एक और घोटाला सामने आया है और यूपीए के एक और मंत्री सवालों के घेरे में है।

DO NOT MISS