General News

Republic Summit 2018 के मंच पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आर्थिक और राजनीतिक मसलो पर अर्नब गोस्वामी और संजीव गोयनका से बात की.

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:


देश के सबसे हाई प्रोफाइल इवेंट रिपब्लिक समिट 2018 मंगलवार को शुरु हुआ. इस कार्यक्रम में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत तमाम दिग्गज शामिल हुए. इसी क्रम में भारत के वित्त मंत्री अरुण जेटली भी रिपब्लिक समिट में पहुंचे. रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ और एमडी अर्नब गोस्वामी और संजीव गोयनका ने उनसे राजनीतिक और आर्थिक मामलों में बात की.

रिपब्लिक समिट 2018 के मंच से भारत के वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा राफेल पर झूठ बोलने वालों की हार हुई है.उन्होंने कहा कोर्ट ने माना कि राफेल पर 74 बैठकें हुईं. सत्य की हमेशा जीत होती है, रापेल मुद्दे पर भी वहीं हुआ. इसके अलावा जेटली ने कहा कि राफेल मुद्दे पर राष्ट्र हितों और आर्थिक हितों दोनों की सुरक्षा की गई. उन्होंने कहा कि राफेल डील पर संसद के दोनों सदनों में चर्चा हो और जिन्होंने इसपर झूठ बोला वो सामने आएं.

अरुण जेटली ने कहा कि राफेल  का सौदा यूपीए कार्यकाल में किया गया था. कीमतें उस दौरान तय की गई थीं, एनडीए की सरकार तो उस कीमत से भी कम में राफेल ला रही है. सुप्रीम कोर्ट राफेल के प्राइस और प्रकिया दोनों को सही ठहराया है ऐसे में सरकार को दोष देना कहां तक सही है.  जेटली ने रिपब्लिक समिट 2018 पर अर्नब गोस्वामी के सवालों का जवाब दे रहे थे. जेटली ने कहा राफेल मामले में राहुल गांधी ने झूठ बोला. 

जेटली ने कहा कि यूपीए कार्यकाल में राफेल की बात आगे बढ़ी. सबकुछ फाइनल कर दिया गया , लेकिन तब के रक्षा मंत्री ए. के . एंटनी ने 2012 में फाइल पर लिख लिया कि अप्रूव बट रिस्ट्रक्चरिंग , ऐसा उन्होंने क्यों लिखा यह किसी को नहीं मालूम. 

जेटली ने कहा सेना को 2008 में राफेल जैसा विमान चाहिए था लेकिन आज तक हम नहीं दे पाए. कांग्रेस ने जो समझौता किया था. उससे 20 फीसदी सस्ता विमान हम ले आए. उसके हथियार में हमने 20 फीसदी बचत की.


रिपब्लिक समिट 2018  में वृत मंत्री अरुण जेटली की मुख्य बातें...

  • हमारा प्राथमिक कार्य अर्थव्यवस्था की विश्वसनीयता को बहाल करना था. यह एक कठिन काम था - वित्त मंत्री अरुण जेटली
  • इस मामला में सीएजी द्वारा विचार किया जा रहा है. कुछ अस्पष्टता बनाई गई है और अदालत इसे सही करेगी.  - वित्त मंत्री अरुण जेटली
  •  हम इतिहास में एकमात्र सरकार हैं जिसने वास्तव में करों (Taxes)  को कम कर दिया है: वित्त मंत्री अरुण जेटली
  • राजस्थान में, 2008-2013 से कांग्रेस सरकार थी. उन्होंने कहा 'मुफ्त बिजली'. जिसके बाद 20,000 करोड़ रुपये से राजस्थान इलेक्ट्रिक कंपनियों का कर्ज 70,000 करोड़ रुपये हो गया- अरुण जेटली 
  • सूरत शहर को सबसे ज्यादा जीएसटी का विरोध करते हुए दिखाया गया था. मैं कम से कम 3 मौकों पर सूरत गया था. जब चुनाव परिणाम आएं तो हमने 12 सीटों में से 12 सीटें जीती: अरुण जेटली
  •  
  • 2014 में एक भी विश्लेषक को यह नहीं पता था कि अकेले बीजेपी 282 सीटें जीतेगी और एनडीए को 340 सीटें मिलेंगी - अरुण जेटली
  •  मुझे फिलहाल रिजर्व बैंक के रिजर्व से कोई पैसा नहीं चाहिए- अरुण जेटली
  • अगर अयोध्या मुद्दे बहुत पहले सुलझा लिया गया होता तो मैं इसे काफी पंसद करता. लेकिन ऐसा नहीं हुआ- अरुण जेटली
  • दो प्रमुख सफलताओं (क्रिश्चियन मिशेल और विजय माल्या) के साथ, भारत ने कड़ा संदेश दिया है कि उन्हें वापस लाया जा सकता है- अरुण जेटली
     
DO NOT MISS