General News

Republic Summit 2018 | पिछले 4 सालों में अरुण जेटली के कदम से भारत 'फ्रैगिल 5' से उठकर सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था की श्रेणी में आया

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने Republic Summit 2018 के आगाज पर मुख्य रूप से 'अर्थव्यवस्था के लिए सिल्वर बुलेट' विषय पर अपनी बात रखी. गोयनका समूह संजीव गोयनका और रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी के साथ बातचीत में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कई मुद्दों के बारे में बात की.

जब संजीव गोयनका ने मंत्री अरुण जेटली से पूछा:

"पिछले चार सालों में हमने कई बदलाव देखे हैं. हमने कठोर कदम देखा है, हमने काफी अच्छे कदम देखे हैं. मैं इस सरकार की प्रिंसिपल अचीवमेंट के बारे में आपसे सुनना चाहता हूं और कौन सा काम अभी करना बाकी रह गया है. आपको क्या लगता है आपकी सरकार आगे भी सत्ता में बनी रहेगी?"

इस सवाल पर वित्तमंत्री अरुण जेटली ने जवाब दिया...

"यदि आप हालात की तुलना करते हैं और मैं उस बाधा पर थोड़ा सा जवाब दे दूं कि मुझे टीवी पर ये देखने का मौका मिला कि माननीय प्रधानमंत्री जी ने अपने भाषण में इस मुद्दे पर बेहतर जवाब दे दिया है. तो क्या हम 26 मई 2014 तक भारत विश्वस्तर पर पैरालिसिस से पीड़ित नहीं था? परिवर्तन, रिफॉर्म और सुधार भी असंभव हो गया था. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित पत्रिकाओं और टिप्पणीकारों ने हमें 'फ्रैगिल 5' का हिस्सा बना दिया था. हमारा राजकोषीय घाटा 6% तक पहुंच गया था. हमारा चालू खाता 4.5 से 5% तक के घाटे में था. UPA 2 के 5 साल की संयुक्त इन्फ्लेशन 10.4% थी. दो अंकों की इन्फ्लेशन वाले दिन एक दशक पहले नहीं थे, वे सिर्फ चार साल दूर थे"

इसके अलावा उन्होंने कहा कि हमारा प्राथमिक कार्य अर्थव्यवस्था की विश्वसनीयता को बहाल करना था. यह एक कठिन काम था. जेटली ने कहा कि हम इतिहास में एकमात्र सरकार हैं जिसने वास्तव में करों (Taxes)  को कम कर दिया है

इससे पहले मंगलवार देश के सबसे हाई प्रोफाइल इवेंट Republic Summit 2018 में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत की अर्थव्यवस्था से जुड़े कई मुद्दों पर फोकस किया था. पीएम मोदी ने रिपब्लिक टीवी के मंच से GST से जुड़ी कुछ अहम जानकारी भी साझा की. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया के GST के अंतरगत आने वाले 99 प्रतिशत चीजों पर जल्द ही टैक्स स्लैब घटाकर 18 प्रतिशत या उससे नीचे कर दिया जाएगा.

गौरतलब है कि समिट के आगाज के वक्त उद्घाटन इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने Republic Summit 2018 के मंच से कहा था कि सर्जिंग इंडिया ये दो शब्द 130 करोड़ भारतीयों की भावना है.

DO NOT MISS